प्रियंका ने कांग्रेस का घोषणा पत्र किया जारी, सरकारी नौकरियों में महिलाओं को मिलेगा 40% आरक्षण

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को महिलाओं के लिए अलग से घोषणा पत्र जारी किया है। इसमें उन्होंने सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण देने सहित शिक्षा, स्वास्थ्य व सुरक्षा के मद्देनजर कई बड़ी घोषणाएं भी की हैं।

मीडिया स्वराज डेस्क

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने महिलाओं के लिए अलग से घोषणा पत्र जारी किया है। इस मौके पर उन्होंने महिलाओं को सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण देने सहित कई बड़ी घोषणाएं कीं। साथ ही अपने चुनावी प्रतिद्वंद्वियों बीजेपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव की टिप्पणियों पर कटाक्ष भी किया।

अपने चुनावी घोषणापत्र को जारी करने के इस मौके पर प्रियंका ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने ही देश को पहली महिला प्रधानमंत्री दिया।

अपने चुनावी घोषणापत्र को जारी करने के इस मौके पर प्रियंका ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने ही देश को पहली महिला प्रधानमंत्री दिया। अब जरूरी है कि महिलाओं को राजनीति में भी हिस्सेदारी दी जाए। ये काम कांग्रेस पार्टी करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 40 प्रतिशत सीटों पर महिला उम्मीदवार उतारने का निर्णय लिया है। उन्होंने यह उम्मीद भी जताई कि एक दिन संसद व विधानसभाओं में महिलाओं की 50 फीसदी हिस्सेदारी होगी।

अपने इस महिला घोषणापत्र को लेकर प्रियंका गांधी ने कहा कि यह घोषणा पत्र कमरे में बैठकर तैयार नहीं किया गया है। यह पहल है।

अपने इस महिला घोषणापत्र को लेकर प्रियंका गांधी ने कहा कि यह घोषणा पत्र कमरे में बैठकर तैयार नहीं किया गया है। यह पहल है। हर चीज का समय होता है। अब इसका वक्त आ गया है। अन्य दलों को भी इस पर निर्णय लेना चाहिए। महिलाएं आवाज उठा रही हैं। अपना हक मांग रही हैं। ये उसका प्रतिबिम्ब है। लड़कियों ने इस पर अच्छी प्रतिक्रिया दी है।

इस मौके पर उन्होंने जो बड़ी घोषणाएं कीं, वे इस प्रकार हैं:

  • नई सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 40 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा।
  • आशा बहुओं और आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को न्यूनतम 10 हजार रुपये वेतन दिया जाएगा।
  • पुलिस विभाग में 25 प्रतिशत महिलाओं को नौकरी दी जाएगी। हर थाने में महिला सिपाही की तैनाती की जाएगी।
  • सुरक्षा के विशेष अधिकार प्राप्त छह सदस्यीय आयोग का होगा गठन।
  • प्रदेश के 25 शहरों में अत्याधुनिक छात्रावास बनाए जाएंगे।
  • बीमारी के लिए 10 लाख रुपये तक की इलाज की व्यवस्था होगी।
  • राज्य भर में वीरांगनाओं के नाम प 75 दक्षता विद्यालय खोले जाएंगे।
  • 12वीं पास छात्राओं को स्मार्ट फोन दिया जाएगा व ग्रेजुएट छात्राओं को स्कूटी दी जाएगी।
  • पुलिस थानों में 25 प्रतिशत इंचार्ज सुनिश्चित किये जाएंगे।
  • गांवों में महिला चौपाल का निर्माण किया जाएगा।
  • परिवार में पैदा होने वाली बेटी के लिए एफडी व सांविधिक जमा बनवाया जाएगा।
  • महिलाओं को सरकारी बसों में फ्री यात्रा की अनुमति।
  • मनरेगा में महिलाओं को प्राथमिकता देंगे।
  • हर जिले में महिलाओं की सहायता के लिए तीन सदस्यीय मुफ्त कानूनी सहायता का ऐलान। सलाह के लिए कमेटी का गठन किया जाएगा।
  • प्रदेश में नए प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) खोले जाएंगे। साथ ही सभी सीएचसी में महिलाओं के लिए अलग केंद्र खोले जाएंगे।
  • 50 प्रतिशत महिलाओं को रोजगार देने वाले उद्यम को कर में छूट मिलेगी।

मुझे अपने धर्म के लिये योगी से प्रमाण की जरूरत नहीं

इस मौके पर योगी आदित्यनाथ द्वारा उन पर उठाये गये एक सवाल के जवाब में प्रियंका गांधी ने कहा कि जब मैं 14 साल की थी, तब से व्रत रख रही हूं। मुझे अपने धर्म के लिए योगी से प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है।

भाजपा के चुनाव के समय ही मंदिर जाने के आरोप पर उन्होंने कहा कि योगी को क्या मालूम कि मैं कौन से मंदिर जाती हूं। मुझे उनके प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं है।

अखिलेश ज्योतिषी हो सकते हैं

इस मौके पर कांग्रेस महासचिव ने समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की कांग्रेस के लिए “जीरो सीट” की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुये मंगलवार को कहा कि अखिलेश यादव एक ज्योतिषी हो सकते हैं और उन्हें लगता है कि कांग्रेस को 0 सीटें मिलेंगी। हम देखेंगे कि क्या होता है।

बता दें कि अखिलेश यादव ने पिछले सप्ताह संवाददाताओं से कहा था कि कांग्रेस इस बार प्रतिस्पर्धा में नहीं है। वे यहां केवल विज्ञापन के लिए है। संभव है कि उन्हें शून्य सीटें मिलें। इससे एक दिन पहले प्रियंका गांधी ने उन पर “जातिवादी” और “आपराधिक” सरकार चलाने का आरोप लगाया था और कहा था कि समाजवादी पार्टी प्रमुख और बसपा प्रमुख मायावती जाति और धर्म की राजनीति को आगे बढ़ाने का काम करते हैं।

अखिलेश से प्रियंका के सवाल

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में मारे गए बिजनौर के एक 19 वर्षीय व्यक्ति के मामले का जिक्र करते हुए प्रियंका ने न्यूज एजेंसी पीटीआई से कहा कि मैं पूछना चाहती हूं कि क्या अखिलेश जी उनके घर गए थे? सोनभद्र में तेरह आदिवासी मारे गए थे, अखिलेश जी वहां गए? उन्नाव और हाथरस में महिलाओं पर अत्याचार हुए, क्या अखिलेश जी वहां गए थे, क्या वे लखीमपुर खीरी गए थे, जहां किसान मारे गए थे? अब चुनाव के समय वह जगह-जगह क्यों घूम रहे हैं और उनकी पार्टी फिर से नजर आ रही है।

इसे भी पढ़ें:

चित्रकूट में गूंजा ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ का नारा, प्रियंका बोलीं, एकजुट हो राजनीति में आएं महिलाएं

अखिलेश और ममता की नजदीकियां

बता दें कि कांग्रेस ने 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया था और राहुल गांधी ने अखिलेश यादव के साथ प्रचार भी किया था। दोनों ने खुद को “यूपी के बेटों” के रूप में पेश किया था। वहीं, इस बार अखिलेश यादव और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के बीच बढ़ती नजदीकियों से कांग्रेस में हलचल है। कारण, ममता बनर्जी ने यूपी में अखिलेश यादव के साथ मिलकर प्रचार करने की इच्छा जाहिर की है, जिस पर अखिलेश यादव ने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश में उनका स्वागत करता हूं। उन्होंने जिस तरह से बंगाल में भाजपा का सफाया किया, उत्तर प्रदेश के लोग भाजपा का सफाया कर देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − sixteen =

Related Articles

Back to top button