रोज़गार के लिए हज़ारों युवा प्रयागराज की सड़कों पर , सरकार के लिए ख़तरे की घंटी

उत्तर प्रदेश मैं राजधानी लखनऊ के बाद प्रयागराज में रोज़गार के लिए युवा सड़कों पर उतरे । हज़ारों की संख्या में बेरोज़गार युवाओं ने मंगलवार की रात और बुधवार को प्रयागराज सड़कों पर रैली निकालकर सरकार के लिए ख़तरे की घंटी बजा दी।रैली के लिए इलाहाबाद की गोविंदपुर, सलोरी, छोटा बघाड़ा, अल्लापुर डेलीगेसी में रहने वाले युवाओं की जॉइंट कॉल थी .

रैली में “तानाशाही नहीं चलेगी ” और “योगी मोदी होश में आओ” के नारे भी लग रहे थे।

युवा मंच ने सोशल मीडिया पर आह्वान किया और हज़ारों छात्र अपने कमरों से निकलकर सड़कों पर आ आते गए। रैली मंगलवार को देर रात तक चली। इसके बाद बुधवार को सुबह फिर यह सिलसिला शुरू हो गया। इस मंच में सभी भर्तियों के युवा हैं पर विशेष कर शिक्षक भर्ती के हैं।

पुलिस इस रैली को क़रीब बीस घंटे बाद बड़ी मुश्किल से बुधवार को तीसरे पहर रोक सकी।

इन बेरोज़गार युवाओं की माँग है कि सरकार क़रीब एक लाख ख़ाली पड़े शिक्षकों के पदों पर तुरंत भर्ती शुरू करे।

याद दिला दें कि पिछले कुछ सालों से बड़ी संख्या में युवा बीटीसी और बीएड जैसे कोर्स कर रहे हैं।बड़ी सांख्य में पद ख़ाली भी हैं, लेकिन भर्ती न होने से लोग निराश हैं।

अब ये उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सरकार पर लगातार वैकेंसी निकालने का दबाव बना रहे हैं।

पिछले कई दिनों से छात्र – छात्राएं क़रीब एक लाख शिक्षक भर्ती का विज्ञापन जारी करने की मांग को लेकर राजधानी लखनऊ के विधानसभा भवन पर जोरदार प्रदर्शन कर रहे हैं।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ की पूर्व अध्यक्ष डॉ ऋचा सिंह ने कहा, ” बेरोजगारी से त्रस्त छात्रों का जनसैलाब कल रात से आज तक प्रयागराज  की सड़कों पर है। इलाहाबाद की धरती से युवा तरूणाई ने #बीजेपी सरकार के खिलाफ बिगुल फूँक दिया।अब तख़्त उछाले जायेंगे #NoMoreBJP

इसे लेकर सोशल मीडिया पर भी काफ़ी कुछ लिखा जा रहा है। पुष्पेंद्र यादव नाम के युवक ने लिखा – अब बेरोजगार युवा रुकने वाला नहीं है बहुत हो गया मंदिर मस्जिद, अब सड़कों पर उतरेगा और बाबा को मठ भेजने का काम करेगा।

स्वामी नाम के एक यूजर ने कमेंट किया, ” भाजपा सरकार जिस भाषा को समझती है। उसी भाषा में बेरोजगार नौजवानों ने मध्य रात्रि को हल्ला बोल कर समझाया है।” अमन नाम की यूजर लिखते हैं – अगर योगी सरकार ने 97000 पदों पर नई शिक्षक भर्ती नहीं निकाली तो उसका परिणाम 2022 के चुनाव में दिखाई देगा

अभिनव मौर्य ने कमेंट किया, ” अभी तो शुरुआत है, जब सरकार की मंशा लोगों को समझ में आएगी तो क्रांति होगी।”

रिटायर्ड आईएएस अफ़सर सूर्यप्रताप सिंह ने टिप्पणी की,”प्रयागराज में बेरोजगार युवाओं का रात्रि में ताली थाली मार्च। हर शहर, हर गांव और हर गली मोहल्लों में यह दृश्य आम होंगे। बाबा तो गयो।” 

छात्रों – युवाओं का ज्ञापन

विषय: प्रदेश में विभिन्न विभागों में 5 लाख  रिक्त पदों को आचार संहिता लागू होने के पहले विज्ञापित करने के संबंध में

महोदय,

            प्रदेश में विभिन्न विभागों में रिक्त 5 लाख से ज्यादा पदों को विज्ञापित करने को लेकर प्रयागराज से लेकर लखनऊ तक युवा आंदोलित हैं। प्रयागराज में कल देर रात हजारों युवा रोजगार की मांग को लेकर सड़क पर उतर आये और इसी तरह आज भी हजारों युवाओं का प्रदर्शन जारी है। युवा मंच द्वारा प्रयागराज में अनवरत 4 महीने तक रोजगार आंदोलन चला कर इन वाजिब मांगों को हल करने की अपील पर शासन प्रशासन ने नजरअंदाज किया जोकि युवाओं के आक्रोश की आज बड़ी वजह है। गौरतलब है कि भाजपा के मैनीफेस्टो में सभी रिक्त पदों को भरने का वादा किया गया था, इसके अलावा आप के द्वारा भी समय समय पर सभी रिक्त पदों को भरने की घोषणाएं की गई हैं। लेकिन इन घोषणाओं पर अमल न होने से युवाओं में जबरदस्त रोष व्याप्त है। 

          अतः हमारी मांग है कि आचार संहिता लागू होने के पहले सभी रिक्त पदों को विज्ञापित किया जाये। 

प्रमुख मांगें :-

1: प्रदेश में रिक्त पड़े 5 लाख से ज्यादा पदों को आचार संहिता के पहले विज्ञापित किया जाये, खासतौर पर 97 हजार प्राथमिक शिक्षक भर्ती, 27 हजार टीजीटी पीजीटी, 12 हजार एलटी, लेखपाल समेत समूह ग के 50 हजार, उच्च प्राथमिक विद्यालयों में बीपीएड शिक्षकों के 48 हजार पदों पर नियमित भर्ती, 52 हजार पुलिस, तकनीकी संवर्ग में तकरीबन एक लाख रिक्त पद आदि। प्रदेश में हर युवा को गरिमापूर्ण रोजगार की गारंटी की जाये। 

2: चयन प्रक्रिया को पारदर्शी व भ्रष्टाचार-भाईभतीजावाद मुक्त बनाया जाये। नकल व शिक्षा माफियाओं पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कदम उठाए जायें। 

3: दरोगा भर्ती में अभूतपूर्व धांधली की समयबद्ध सीबीआई जांच कराई जाये, जांच के अनुरूप इस भर्ती के बारे में निर्णय लिया जाये और जांच पूरी होने तक रिजल्ट घोषित न किया जाये।

4: सभी लंबित भर्तियों को समयबद्ध पूरा किया जाये।

5: कोरोना महामारी के मद्देनजर पुलिस समेत आगामी सभी भर्तियों में 2 साल की उम्र सीमा छूट प्रदान की जाये।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button