लखनऊ की पॉलोमी पाविनी शुक्ला “फेमिना” की “Fab 40” सूची में

लखनऊ की पॉलोमी पाविनी शुक्ला को विख्यात पत्रिका “फेमिना” ने अपनी “Fab 40” सूची में सम्मिलित कर किया सम्मानित!

विख्यात पत्रिका “फेमिना” ने अपने नवीनतम संस्करण में देश की 40 ऐसी महिलाओं की सूची जारी की है जिन्होंने अपने क्षेत्र में विशिष्ट योगदान देते हुए लाखों लोगों को प्रेरित किया है। इस सूची में लखनऊ की पॉलोमी पाविनी शुक्ला भी शामिल की गई हैं।

लम्बे अरसे से अनाथ बच्चों को समान अधिकार दिलाने व उनके हित की सुरक्षा के लिए मा० उच्चतम न्यायलय तक जनहित याचिका लड़ने के लिए उन्हें यह सम्मान मिला है। अनाथ बच्चों पर उनके द्वारा अपने भाई अमंद शुक्ला के साथ‌ संयुक्त रुप से लिखी पुस्तक ” Weakest on earth – Orphans of India” तथा उनके परिश्रम द्वारा कई राज्यों में अनाथ बच्चों हेतु नीतिगत बदलाव आए हैं, जिनमें अनाथ बच्चों के लिए आरक्षण, बजट वृद्धि आदि सम्मिलित हैं।

Poullomi Pavini Shukla , Lawyer , Femina's Fabulous 40
Poullomi Pavini Shukla , Lawyer , included in Femina’s Fabulous 40

इस सूची में उत्तर प्रदेश से पॉलोमी पाविनी शुक्ला के अतिरिक्त मात्र एक और महिला सम्मिलित हैं: फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा। देश भर की 40 महिलाओं की इस सूची में अन्य विख्यात महिलाएं भी शामिल की गई हैं, जैसे टोक्यो ओलंपिक्स में देश को गौरान्वित करने वाली रानी रामपाल व मीराबाई चानू, मा० उच्चतम न्यायालय में हाल ही में आईं तीन न्यायमूर्ति, इसरो के मंगलयान मिशन की महिला वैज्ञानिक, स्मृति ईरानी, मीनाक्षी लेखी, महुआ मोइत्रा, पी० वी० सिंधु, बरखा दत्त, आलिआ भट्ट, मसाबा गुप्ता, भूमि पेडनेकर, नीता अम्बानी, कोनेरू हम्पी आदि।

अनाथ बच्चों के लिए कार्यरत पॉलोमी पाविनी शुक्ला को पूर्व में भी सम्मानित किया जा चुका है। हाल ही में विख्यात अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका “फोर्ब्स” ने भी अपनी “30 Under 30” सूची में उन्हें सम्मिलित किया था। यह सूची 30 ऐसे व्यक्तियों की है जो 30 वर्ष से कम आयु के हैं तथा जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्र में अद्वितीय योगदान दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

16 − two =

Related Articles

Back to top button