फूलन देवी की प्रतिमा वापस पाने के लिए निषाद समुदाय आंदोलन करेगा

यदि पुलिस प्रशासन ने ससम्मान फूलन देवी की प्रतिमा स्थापन कराने के लिए वापस नहीं किया तो निषाद समुदाय की वी0आई0पी0 पार्टी 25 जुलाई के बाद बड़ा आन्दोलन खड़ा करेगी। 
विकासशील इंसान पार्टी के संस्थापक व बिहार सरकार के पशुधन एवं संसाधन मंत्री मल्लाह मुकेश सहनी द्वारा उत्तर प्रदेश के 18 मण्डलों में वीरांगना फूलन देवी की बीसवीं पूण्यतिथि पर 25 जुलाई को आदमकद प्रतिमायें स्थापित करायी जानी हैं. वाराणसी मण्डल के वाराणसी जनपद के अन्तर्गत रोहनियां विधानसभा के सूजाबाद -पड़ाव पर प्रतिमा स्थापित करने के लिए पटना से आ चुकी थी। पुलिस क्षेत्राधिकारी व रामनगर एस0एच0ओ0 ने भारी पुलिस बल के साथ प्रतिमा स्थल पर आकर फूलन देवी की मूर्ति उठाकर रामनगर थाने ले गयी।

ग्राम पंचायत के सभी नागरिकों की आम सहमति से प्रतिमा स्थापित करने के लिए स्थान चयन किया गया था।

आरोप है कि पुलिस अधिकारी प्रतिमा स्थापित करने से रोकने में जुटे हैं। वी0आई0पी0 पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चै0 लौटन राम निषाद ने क्षेत्रीय पुलिस अधिकारियों द्वारा प्रतिमा स्थापित करने से रोके जाने व प्रतिमा को ट्रक पर भारी पुलिस बल की मदद से उठाकर थाने ले जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यदि पुलिस प्रशासन ने ससम्मान फूलन देवी की प्रतिमा स्थापन कराने के लिए वापस नहीं किया तो वी0आई0पी0 पार्टी 25 जुलाई के बाद बड़ा आन्दोलन खड़ा करेगी। 
निषाद ने बताया कि राम नगर एस0एच0ओ0 वेद प्रकाश सिंह ने कहा कि शासन का आदेश है कि फूलन देवी की प्रतिमा स्थापित कराना तो दूर फोटो व तस्वीर लगाकर कोई कार्यक्रम नहीं किया जा सकता। एस0एच0ओ0 ने कहा कि फूलन देवी आपराधिक व हत्यारिन थीं इसलिए प्रतिमा नहीं लगायी जा सकती।

निषाद ने एस0एच0ओ0 की उक्त टिप्पणी पर कड़ा रोष प्रकट करते हुए कहा कि जब न्यायालय द्वारा फूलन देवी पर आपराधिक दोष सिद्ध नहीं तो फूलन देवी अपराधी कैसे?

फूलन देवी को मिर्जापुर-भदोही की जनता ने 1996 व 1999 में देश की सर्वोच्च पंचायत में चुनकर भेजा। ग्रीनिज बुक आॅफ रिकार्ड्स ने फूलन देवी को विश्व की चैथी व भारत की पहली क्रान्तिकारी महिला का खिताब दिया है।  उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन प्रदेश में जाति संघर्ष कराना चाहता है। हम किसी को छेड़ेगे नहीं लेकिन कोई हमारे समाज को छेड़ेगा तो छोड़ेंगे नहीं।
फूलन देवी की सांसद रहते हुए शेर सिंह राणा ने उनके सांसद आवास के गेट पर 25 जुलाई 2001 को गोली मारकर हत्या कर दिया था। उसने इसे बेहमई काण्ड का बदला बताया था। शेर सिंह राणा फूलन देवी की हत्या के आरोप में तिहाड़ जेल में बंद था। भाजपा की 2014 में सरकार बनने पर उसे पैरोल पर छुड़वाया गया जो आज तक वापस नहीं गया। उन्होंने कहा कि 25 जुलाई को पूरे प्रदेश में वी0आई0पी0 द्वारा फूलन देवी सहादत दिवस का आयोजन किया जा रहा है।

     

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + nine =

Related Articles

Back to top button