हे लोकतंत्र के गुलाब

27 मई पुण्य तिथि पर विशेष

आधुनिक भारत के निर्माता पंडित जवाहरलाल नेहरू ,भारत के प्रथम प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि पर हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए एक

चंद्र विजय चतुर्वेदी

कविता ,डा चन्द्रविजय चतुर्वेदी , प्रयागराज,  मुंबई से

हे लोकतंत्र के गुलाब
भारत के लाल
जवाहरलाल
तुमने उन्नत किया
मातृभूमि का भाल
असहमति में सहमति
के मिसाल
भारत की खोज के अध्येता
असंभवों के संभव विजेता
विश्वशांति के अग्रदूत
गुटनिरपेक्षता के कर्णधार
पंचशील के सिंद्धांतकार
नवभारत के शिल्पकार
नवयुग को तुमने वैज्ञानिक दृष्टि
का दिया अनुपम उपहार
विश्वबंधुत्व के मीमांसक
युगनायक पंडित नेहरू
भारत के कण कण में
रची बसी तुम्हारी स्मृतियाँअपार
हे युगपुरुष कृतज्ञ राष्ट्र का
नमन करो स्वीकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles