योगी के बजाय मोदी के कंधे पर आई UP चुनाव की कमान, 10 दिनों के अंदर करेंगे चार दौरे

अब यूपी चुनावों की कमान योगी की बजाय मोदी के कंधों पर आ गई है। किसी भी कीमत पर यूपी में बीजेपी को जीत दिलाना पीएम मोदी का मकसद बन चुका है। मोदी को करीब से जानने वाले जानते हैं कि मोदी जिस काम को हाथ में लेते हैं, उसमें कामयाब होने के लिए 'साम-दाम-दंड-भेद', हर प्रयोग करके भी जीत हासिल करने की पूरी कोशिश कर लेते हैं। हालांकि, परिणाम तो कभी किसी के भी हाथ में नहीं होता।

10 दिनों के अंदर मोदी करेंगे यूपी के चार दौरे

उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुये भारतीय जनता पार्टी कोई भी गलती नहीं करना चाहती। पार्टी किसी भी कीमत पर यूपी में अपनी सत्ता खोना नहीं चाहती। यही वजह है कि समाजवादी पार्टी को शिकस्त देने और जनता के मन में एक बार फिर से पार्टी के प्रति विश्वास कायम करने के लिये उन्होंने योगी के बजाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही फ्रंट सीट पर लाकर खड़ा कर दिया है।

अब यूपी चुनावों की कमान योगी की बजाय मोदी के कंधों पर आ गई है। किसी भी कीमत पर यूपी में बीजेपी को जीत दिलाना पीएम मोदी का मकसद बन चुका है। मोदी को करीब से जानने वाले जानते हैं कि मोदी जिस काम को हाथ में लेते हैं, उसमें कामयाब होने के लिए ‘साम-दाम-दंड-भेद’, हर प्रयोग करके भी जीत हासिल करने की पूरी कोशिश कर लेते हैं। हालांकि, परिणाम तो कभी किसी के भी हाथ में नहीं होता।

आचारसंहिता लगने से पहले यूपी से संबंधित सभी कार्यक्रम निपटा लिए जाएं

बहरहाल, जीत की अपनी रणनीति के तहत ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महीने 10 दिन के अंदर चार बार उत्तर प्रदेश का दौरा करने की योजना बना चुके हैं। मोदी और उनकी पार्टी चाहती है कि आचार संहिता लगने से पहले यूपी से संबंधित सभी कार्यक्रम निपटा लिए जाएं।

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव करीब हैं और भाजपा का चुनावी अभियान भी रफ्तार पकड़ चुका है। प्रधानमंत्री मोदी भी यूपी में दौरे पर दौरा कर रहे हैं। अभी शनिवार को ही उन्होंने शाहजहांपुर पहुंचकर 594 किलोमीटर लंबे गंगा एक्सप्रेसवे की नींव रखी। यह देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा, जो मेरठ और प्रयागराज को जोड़ेगा। इसे बनाने में 36 हजार 230 करोड़ रुपये की लागत आएगी। बताया जा रहा है कि इस एक्सप्रेसवे को तैयार करने का लक्ष्य 2025 तक रखा गया है।

10 दिन में मोदी का चार बार उत्तर प्रदेश दौरा

अब अगले 10 दिन में ही प्रधानमंत्री मोदी चार बार उत्तर प्रदेश का दौरा करने वाले हैं। आचारसंहिता लगने से पहले वे सारे शिलान्यास और उद्घाटन के कार्यक्रम पूरे कर लेना चाहते हैं। 21 दिसंबर को वह प्रयागराज में होंगे और राज्य की महिला कर्मचारियों से संवाद करेंगे। यह कार्यक्रम तब आयोजित किया जा रहा है, जब राज्य में ASHA कार्यकर्ता मानदेय की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रही हैं। इसके अलावा कोविड वैक्सिनेशन में सहयोग करने वाली महिला कर्मियों की भी अपनी मांगे हैं।

इस कार्यक्रम में उन महिलाओं को भी आमंत्रित किया गया है, जो कि गांवों में बैंकिंग को आसान करने के लिए बैंक सखी के रूप में काम कर रही हैं। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी इस कार्यक्रम के जरिए महिलाओं का उत्साहवर्द्धन करने वाले हैं। साथ ही प्रदेश में कांग्रेस के कैंपेन को जवाब भी देने वाले हैं।

23 दिसंबर को वाराणसी में होंगे प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री मोदी 23 दिसंबर को अपने लोकसभा क्षेत्र वाराणसी पहुंचेंगे। वह यहां पर किसानों और कृषि वैज्ञानिकों के साथ संवाद करेंगे। 28 दिसंबर को वह कानपुर में होंगे और मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का उद्घाटन करेंगे। कानपुर में 9 किलोमीटर लंबे इस रूट पर मेट्रो दौड़ने लगेगी। इसके साथ ही प्रधानमंत्री आईआईटी के दीक्षांत समारोह मे भी हिस्सा लेंगे।

बता दें कि पिछले महीने में पीएम मोदी 6 बार उत्तर प्रदेश जा चुके हैं। वह गोरखपुर, सुल्तानपुर, वाराणसी, महोबा, झांसी, नोएडा और बलरामपुर पहुंचे थे। पिछले महीने लखनऊ में डीजीपी कॉन्फ्रेंस में भी प्रधानमंत्री मोदी शामिल हुए थे।

इसे भी पढ़ें:

काशी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक दिन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 3 =

Related Articles

Back to top button