मनीषा कोइराला ने विवादित नक्शे वाले ट्वीट का किया समर्थन

नेपाल के भारत के साथ उभरे हालिया सीमा विवाद के बीच मनीषा कोइराला ने ट्विटर पर विवादित ट्वीट शेयर किया हैl साथ ही इस विवाद में उन्होंने चीन को भी लाने का प्रयत्न किया हैंl उनके ट्वीट का संज्ञान लेते हुए वकील और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल ने जवाब दिया हैl भारत के साथ सीमा विवाद के बीच नेपाल के नए राजनीतिक मानचित्र पर मनीषा कोइराला का समर्थन मिलने के बाद ट्वीट्स की एक श्रृंखला में स्वराज कौशल ने मनीषा कोइराला को जवाब दिया।

मिजोरम के पूर्व राज्यपाल कौशल ने भारत और नेपाल के बीच उभरे मतभेदों में मनीषा से पूछा कि भारत और नेपाल के विवाद के बीच वह चीन को क्यों लेकर आई हैं। नेपाल ने बुधवार को अपने क्षेत्र के हिस्से के रूप में लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा विवादित क्षेत्रों का अपना नया नक्शा जारी किया। मनीषा ने नेपाल के समर्थन में ट्वीट करने के अलावा उक्त क्षेत्रों पर भारत के साथ सीमा विवाद पर चीन को भी ले आई थीं।

570 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

मनीषा कोइराला ने नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली के नक्शे में विवादित क्षेत्रों को शामिल ट्वीट का समर्थन किया हैं। मनीषा ने भारत, नेपाल और चीन के संदर्भ में ट्वीट किया, ‘हमारे छोटे राष्ट्र की गरिमा बनाए रखने के लिए धन्यवाद। हम सभी अब तीनों महान देशों के बीच शांतिपूर्ण और सम्मानजनक बातचीत की उम्मीद कर रहे हैं।’ काठमांडू में जन्मी मनीषा नेपाली राजनेता प्रकाश कोइराला की बेटी हैं। उनके दादा बिशेश्वर प्रसाद कोइराला 1959 से 1960 तक नेपाल के प्रधानमंत्री थे। मनीषा के ट्वीट के बाद स्वराज कौशल ने मनीषा को ‘कठिन परिस्थितियों’ की एक कहानी सुनाई जो उन्होंने अपने परिवार के साथ ‘देखी है।’

10.1 हज़ार लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

उन्होंने मनीषा को उनकी 1994 की फिल्म 1942: ए लव स्टोरी के प्रीमियर के बारे में याद दिलाया और कहा कि वह ‘फिल्म देखने के लिए नहीं रुक पाएं’, जबकि सुषमा स्वराज और उनकी बेटी बंसुरी ने फिल्म देखी। विधु विनोद चोपड़ा द्वारा निर्देशित फिल्म भारत में ब्रिटिश राज की पृष्ठभूमि पर आधारित थी।

534 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

उन्होंने लिखा, ‘मैं आपके साथ बहस नहीं कर सकता। मैंने हमेशा आपको मेरी बेटी के रूप में माना है। जब आपने हमें 1942 अ लव स्टोरी के प्रीमियर के लिए आमंत्रित किया थाl मैं फिल्म देखने के लिए नहीं रुक पाया। हां सुषमा स्वराज और बांसुरी ने फिल्म देखी थी। यह 27 साल पहले की बात है। आप साकेत में एपीजे स्कूल साउथ एक्सटेंशन में पढ़े थे। आपके पिता प्रकाश कोइराला मेरे भाई की तरह हैं और आपकी मां सुषमा कोइराला एक भाभी की तरह हैं। हमने मुश्किल परिस्थितियां एक साथ देखी है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles