विश्वविद्यालय की 100 वर्ष की यात्रा को यादगार बनायें : राज्यपाल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने लखनऊ विश्वविद्यालय के शताब्दी दिवस समारोह के अवसर पर कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय के नेतृत्व में विश्वविद्यालय परिसर से राजभवन तक पदयात्रा कर आये 200 लोगों के दल को सम्बोधित करते हुए कहा कि योग, खेल एवं शारीरिक अभ्यास को अपने जीवन का हिस्सा बनायें। प्रतिदिन सुबह टहलने का नियम बनायें। इसे अपने जीवन में शामिल करें।

राज्यपाल ने शताब्दी वर्ष की बधाई देते हुए कहा कि लखनऊ विश्वविद्यालय की 100 वर्ष की यात्रा है, इसे यादगार बनायें। बच्चों को उनकी प्रतिभा का एहसास करायें। साथ मिलकर कार्य करें तथा एक-दूसरे के गुणों को स्वीकार करें, तभी देश आगे बढ़ेगा। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने अपनी विशिष्ट क्षमता से देश को विश्व में ऊंचा स्थान दिलाया है। उन्होंने कहा कि साथ मिलकर कार्य करने से विश्वविद्यालय भी आगे बढ़ेगा।

श्रीमती पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालय में छात्र-छात्राओं के लिए विविधि कार्यक्रमों का आयोजन करायंे तथा विद्यार्थियों को शैक्षणिक यात्रा पर लें जायें। यात्रा से संबंधित सभी आवश्यक तैयारियाँ करने का उन्हें अवसर दें। नया जानने, सीखने और करने में शिक्षक सहयोग एवं मार्गदर्शन करें। इससे छात्र-छात्राओं में आत्मविश्वास की भावना तथा नेतृत्व का गुण विकसित होगा। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालयों में ग्रामीण, आदिवासी तथा सभी परिवेश के छात्र-छात्राएं पढ़ने आते हैं। विश्वविद्यालय में ऐसा वातावरण निर्मित करें कि पिछड़े क्षेत्रों से आने वाले बच्चे बिना तनाव के अपनी पढ़ाई कर सके।

विश्वविद्यालय पदयात्रा दल में कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय सहित शिक्षक तथा विद्यार्थीगण सम्मिलित थे। राज्यपाल ने पदयात्रा पद को राजभवन के बाग-बगीचे, उद्यान, गौशाला घूमने हेतु भी आमंत्रित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button