कबीर भारती आश्रम में बच्चों के लिए कार्यक्रम

कबीर भारती आश्रम में आज बच्चों के लिए कई कार्यकर्मों का आयोजन किया गया . कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कसमंडा रियासत के कुंवर दिनकर प्रताप सिंह और विशिष्ट अतिथि ठाकुर शिव शंकर सिंह  थे .

कार्यक्रम का आरंभ दीप प्रज्वलन के साथ किया गया.  आश्रम द्वारा चलाए जा रहे खुशहाल बचपन अभियान के अंतर्गत लखनऊ से पधारे श्री दीपराज लखमानी  की उदारता और सहयोग से बच्चों को फल वितरण और भोजन प्रसाद दिया गया। देश और दुनिया को पर्यावरणीय खतरो से बचाव के लिए वृक्ष कितना जरुरी है इसका संदेश देते हुए मुख्य अतिथि कुंवर दिनकर प्रताप सिंह  ठाकुर शिव शंकर सिंह  द्वारा फलदार वृक्ष का रोपण भी किया गया।


इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य अतिथि ने कबीर भारती आश्रम के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि सेवाहि परमो धर्म: आज समाज को सेवा के लिए आगे आना चाहिए जिससे समाज और देश आत्मनिर्भर बन सके सेवा जरूरी नहीं कि पैसे से की जाए आप सेवा समय द्वारा , श्रम द्वारा, या पैसों द्वारा जो भी सुविधाजनक हो कर सकते हैं ।

कबीर भारती आश्रम के संस्थापक व साधक आचार्य श्री प्रमिल द्विवेदी ने अतिथियों का स्वागत और आभार व्यक्त किया उन्होंने कहा कि वैश्विक शांति, प्रबुद्ध नागरिक बोध और आध्यात्मिक चेतना द्वारा देश और दुनिया को समृद्ध आत्मनिर्भर और खुशहाल बनाया जा सकता है, बच्चे देश का भविष्य होते हैं बच्चों को खुशहाल और संस्कारी बनाकर हम देश को खुशहाल बनाने में अपना योगदान दे सकते हैं।

कार्यक्रम में बड़ी संख्या है ग्रामीणों, बच्चों, महिलाओं सहित अनुराग जयसवाल, श्री राम मूर्ति मिश्र, मधुकर पाण्डेय आदि की विशेष उपस्थिति रहीl

कबीर भारती आश्रम  एक नैतिक, सामाजिक और आध्यात्मिक चेतना केंद्र है और अपने पंच सूत्र (प्रार्थना सूत्र, पढ़ाई सूत्र, सफाई सूत्र, सेवा सूत्र और प्रेम सूत्र) साधना के द्वारा समाज, देश और दुनिया में शांति और खुशहाली के लिए पिछले 20 वर्षों से प्रयासरत है। 

आश्रम में सर्व धर्म सम्मेलन, सामाजिक सेवा, संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा संचालित सतत विकास के लक्ष्यों को बढावा देने, लगातार सतसंगों का आयोजन, देश के नामचीन साधु संतों का आगमन आदि अनेक सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने वाले कार्यक्रम लगातार आयोजित होते रहते हैं।

जैतनपुर/सीतापुर 19 अगस्त 2021:

अधिक जानकारी हेतु कृपया संपर्क करें : प्रमिल द्विवेदी 9839172462

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button