जोशीमठ का नाम ज्योतिर्मठ घोषित करने पर किया अभिनन्दन

ज्योतिर्मठ के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री जी से यह आग्रह भी किया कि जौलीग्रांट एयरपोर्ट का नाम आदि गुरु शंकराचार्य के नाम पर रखा जाना चाहिए। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे उनकी इस भावना से केंद्र सरकार को अवश्य अवगत कराएंगे । प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को ज्योतिर्मठ आगमन का भी आमंत्रण दिया।

मुख्यमंत्री से मिला ज्योतिष्पीठ का प्रतिनिधिमंडल

देहरादून: जोशीमठ का नाम ज्योतिर्मठ रखे जाने पर ज्योतिर्मठ के प्रतिनिधिमंडल ने ब्रह्मचारी मुकुंदानन्द के नेतृत्व में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिलकर उनका आभार व्यक्त किया।

ज्योतिष एवं द्वारका शारदापीठ शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का धन्यवाद ज्ञापित कर उन्हें अपना आशीर्वाद प्रेषित किया।

इस अवसर पर ज्योतिष एवं द्वारका शारदापीठ शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का धन्यवाद ज्ञापित कर उन्हें अपना आशीर्वाद प्रेषित किया। ज्योतिष्पीठ की ओर से एक प्रतिनिधिमंडल ने आज शाम मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी से उनके आवास पर मिलकर उनका अभिनंदन किया। ज्योतिर्मठ की ओर से शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती के शिष्य प्रतिनिधि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती की ओर से अभिनंदन पत्र प्रेषित किया गया। जिसमें जोशीमठ नगर का नाम पौराणिक ज्योतिर्मठ रखे जाने पर प्रसन्नता व्यक्त कर मुख्यमंत्री की दीर्घायु की मंगल कामना की गई।

ज्योतिर्मठ के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री जी से यह आग्रह भी किया कि जौलीग्रांट एयरपोर्ट का नाम आदि गुरु शंकराचार्य के नाम पर रखा जाना चाहिए। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे उनकी इस भावना से केंद्र सरकार को अवश्य अवगत कराएंगे।

जौलीग्राण्ट एयरपोर्ट का नाम आदि शंकराचार्य के नाम पर रखने का किया अनुरोध

ज्योतिर्मठ के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री जी से यह आग्रह भी किया कि जौलीग्रांट एयरपोर्ट का नाम आदि गुरु शंकराचार्य के नाम पर रखा जाना चाहिए। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे उनकी इस भावना से केंद्र सरकार को अवश्य अवगत कराएंगे। प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को ज्योतिर्मठ आगमन का भी आमंत्रण दिया।

प्रतिनिधिमंडल में ब्रह्मचारी मुकुंदानंद, ब्रह्मचारी श्रवणानंद, डा बृजेश सती, डॉ रमेश पांडे, बद्रीनाथ मंदिर के पूर्व धर्माधिकारी जगदंबा प्रसाद सती, भारत नौटियाल, अभिषेक बहुगुणा, प्रवीण नौटियाल, सचिन गौतम, शिवानंद उनियाल आदि उपस्थित रहे।

प्रतिनिधिमंडल में ब्रह्मचारी मुकुंदानंद, ब्रह्मचारी श्रवणानंद, डा बृजेश सती, डॉ रमेश पांडे, बद्रीनाथ मंदिर के पूर्व धर्माधिकारी जगदंबा प्रसाद सती, भारत नौटियाल, अभिषेक बहुगुणा, प्रवीण नौटियाल, सचिन गौतम, शिवानंद उनियाल आदि उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़ें:

जोशीमठ का नाम ज्योतिर्मठ करने के लिये उत्तराखंड सरकार से अनुरोध

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − 10 =

Related Articles

Back to top button