हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की सलाह: योग और ध्यान करिये

 

दिनेश कुमार गर्ग

( दिनेश कुमार गर्ग) 

अमरीका ( यू एस ) के प्रतिष्ठित हार्वर्ड   मेडिकल स्कूल ने सलाह दी है कि कोरोना यानी नाॅवेल कोरोनावायरस उत्पन्न चिंता और  भय का भूत भगाने के लिए योग, प्रणायाम और ध्यान करिये। जिस तेजी से कोरोना अमरीका महाद्वीप में फैल रहा है, उसके मद्देनजर उसके प्रति एन्क्जाइटी यानी भय का भूत भी बढ़ता जा रहा है ।स्वयं हार्वर्ड स्कूल के लोग भी कोरोना संक्रमण के शिकार हैं। हार्वर्ड   ने अपनी ताजातरीन हेल्थ गाइड लाईन में कहा है कि योग , प्रणायाम और ध्यान एन्क्जाइटी से रिलैक्स होने के आजमाए हुए नुस्खे हैं। यह सुझाव इस सप्ताह प्रकाशित लेख “Coping with coronavirus anxiety ” में दिये गये हैं। ” नियमित ध्यान अत्यंत शांतिप्रद है । ध्यान के सामान्य तरीके सिखाने वाले अनेक ऐप जैसे Headspace or Calm उपलब्ध हैं, ” यह कहना है हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के साइकियाट्रिस्ट जाॅन शार्प और कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय के स्कूल आॅफ मेडिसिन केडेविड जेफेन का। उनकी सलाह है कि योग नहीं कर सकते तो कुछ नया कुछ रोचक स्वास्थ्यकर काम करना शुरू कर दीजिये , चाहे तो योग की पुस्तके या ऐप की मदद ले सकते हैं। प्रणायाम भी करिये । श्वास लीजिये गिनते हुए एक दो तीन , रोकिये एक दो तीन, निकालिए एक दो तीन और रोकिये एक दो तीन। इस प्रणायाम को स्क्वायर ब्रीदिंग कहते हैं और इसे कुछ मिनटों तक करने के बाद आपकी एन्क्जाइटी शांत होती मालुम पडे़गी।

योग, आसान प्राणायाम और ध्यान भारत में वैदिक काल से चला आ रहा है। लेकिन यहाँ यह धर्म, परम्परा, श्रद्धा और परम्परा के सहारे चल रहा है। लेकिन अब तमाम डाक्टर वैज्ञानिक प्रयोगों और तर्क के साथ इसकी  उपयोगिता प्रमाणित कर रहे हैं। इसलिए अब उसका तेज़ी से विस्तार हो रहा है। डाक्टर योग, आसान, प्राणायाम और ध्यान को अपने मेडिकल नुस्ख़ों में शामिल कर रहे हैं।योग साधना केवल हिमालय की गुफाओं अथवा आश्रमों में रहने वाले  ऋषियों और मुनियों का विषय नहीं है, बल्कि रोज़मर्रा के जीवन में शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए इसकी उपयोगिता कहीं और अधिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles