केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन , मारपीट

मुज़फ्फ़रनगर में सोमवार को केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन , किसानों और भाजपा कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प हुई है। इस झड़प में कई लोग घायल हो गए।

भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने तय किया है कि सरकार के मंत्री, सांसद, विधायक और अन्य नेता पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गाँव गाँव जाकर किसानों और खाप समुदाय के लोगों से मिलकर कृषि क़ानून पर सरकार का पक्ष रखें और उन्हें समझाएँ.

लेकिन खाप मुखिया उनसे मिलने को तैयार नहीं. गाँव वालों की भीड़ उनके विरोध में नारे लगाकर उन्हें उल्टे पाँव वापस लौटने को मजबूर कर रहे हैं.

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा नेताओं का विरोध .

ख़बरों के अनुसार केंद्रीय मंत्री डा संजीव बालियान का काफिला शाहपुर थाना क्षेत्र के सोरम गांव में एक तेरहवीं कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचा था। तभी जय जवान-जय किसान और भाजपा विरोधी नारे लगने लगे।

डा बालियान ने इसके लिए लोक दल को ज़िम्मेदार बताया है.

आरोप है कि भाजपा नेता बालियान के साथ आए युवकों ने लाठी-डंडों से गांव के युवकों को पीटना शुरू कर दिया।

ग्रामीणों के मुताबिक जब जान बचाकर युवक एक घर में घुसे, तो हमलावरों ने घर का गेट तोड़ दिया और घर में मौजूद महिलाओं के साथ अभद्रता की।

घटना के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए किसानों को थाने में बंद कर दिया जिसके बाद किसानों के गुट ने शाहपुर थाने का घेराव किया और किसानों को छोड़ने की मांग कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ किसानों ने इस घटना के बाद 26 फरवरी को महापंचायत बुलाने का ऐलान किया है।

लोक दल नेता जयंत चौधरी ने घटना के लिए भाजपा नेता बालियाँ को ही ज़िम्मेदार बताया है.

राष्ट्रीय लोक दल आरएलडी नेता जयंत चौधरी ने ट्वीट कर लिखा कि सोरम गांव में बीजेपी नेताओं और किसानों के बीच संघर्ष हुआ और इस हमले में कई लोग घायल हुए हैं। किसान के पक्ष में बात नहीं होती तो कम से कम व्यवहार तो अच्छा रखो। किसान की इज्जत तो करो। इब कानूनों के फायदे बताने जा रहे सरकार के नुमाइंदों की गुंडागर्दी बर्दाश्त करेंगे गांववाले क्या।

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button