‘बहुत खराब’ श्रेणी के उच्च स्तर पर पहुंची दिल्ली की हवा

नई दिल्ली: दिल्ली में प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है. आज शुक्रवार की सुबह भी धुंध की चादर में लिपटी हुई थी. प्रदूषण इस कदर बढ़ा हुआ है कि कई लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगी है. दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक बहुत खराब श्रेणी के उच्चतम स्तर पर पहुंच रहा है. आज सुबह 8 बजे दिल्ली का एक्यूआई 365 दर्ज किया गया. 

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिती द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों के अनुसार आनंद विहार में एक्यूआई 387, आरकेपुपरम में 333, रोहिणी में 391 और पश्चिमी दिल्ली में यह 390 पर पहुंच गया है. लगातार खराब हो रही दिल्ली की वायु गुणवत्ता चिंता जनक स्थिति पैदा कर रही है.  हवा की मंद गति और बढ़ता तापमान लगातार वायु गुणवत्ता को खराब से खराब स्तर पर पहुंचा रहा है. सफर के अनुसार पराली जलाए जाने की घटना बढ़ने से दिल्ली-एनसीआर में और प्रदूषण बढ़ेगा. 

हवा की रफ्तार में कमी से बढ़ा प्रदूषण
गुरुवार सुबह हवा का स्तर 254 था, लेकिन उसके बाद छाई धुंध और हवा की रफ्तार में कमी से 313 से ऊपर जाकर ‘बहुत खराब’ श्रेणी में पहुंच गया. पर्यावरण वैज्ञानिकों के अनुसार शनिवार तक मौसम के इसी तरह बने रहने का अनुमान है क्योंकि पराली जलाने के मामलों में वृद्धि से हालात और खराब हो रहे हैं.

1428 से अधिक स्थानों पर जली पराली
बीती रात पंजाब, हरियाणा के खेतों में पराली जलाए जाने के 1428 से अधिक मामले सामने आए हैं. दिल्ली के शादीपुर द्वारका मुंडका सहित कई इलाकों में हवा गंभीर स्तर में पहुंच गई है. भारत सरकार के सफर ने बताया कि हवाओं का रुख इस प्रदूषण को दिल्ली लाने में सहायक ना होने के कारण इसका असर 9 प्रतिशत ही दर्ज किया गया.

गुरुवार को 24 घंटे का औसत AQI 
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने गुरुवार को 24 घंटे का औसत है कि 236 दर्ज किया है. जो कि बहुत खराब से कुल 4 अंक पीछे है, जबकि बुधवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 256 और पराली के मामले 849 दर्ज किए गए थे. गुरुवार को दोनों में ही भारी उछाल दिखा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button