कोरोना से बचाव के लिए चीनी मिलों द्वारा बड़े पैमाने पर सैनिटाइजेशन

लखनऊः 27 अप्रैल, 2020 ।उत्तर प्रदेश में चीनी मिलें कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए अपने आस पास के इलाक़ों में बड़े पैमाने सैनिटीजेशन का काम कर रही हैं।

 

आयुक्त, गन्ना एंव चीनी श्री संजय आर. भूसरेड्डी ने एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि चीनी मिलों के माध्यम से उनके निकटवर्ती सभी सार्वजनिक कार्यालयों यथा- कलक्ट्रेट,एसएसपी कार्यालय, सीओ कार्यालय और पुलिस स्टेशन तथा चैकियां, जिला अस्पताल, सीएचसी, पीएचसी, तहसील, जिला गन्ना अधिकारी एवं उपगन्ना आयुक्त कार्यालयों, केन सोसायटी, गांव, कस्बों, ब्लॉक और चीनी मिल गेट्स तथा सभी क्रय केंद्रों पर सैनिटाइजेशन कराने के लिए निर्देश दिए गए हैं। श्री भूसरेड्डी, ने बताया कि कोरोना वायरस से बचाव हेतु गन्ना परिक्षेत्रों में लगातार सेनेटाइजर का छिड़काव किया जा रहा है। किसानों को कोरोना वायरस से बचाव के उपाय भी लगातार बताये जा रहे है।

गन्ना विकास विभाग द्वारा चीनी मिलो के सहयोग से सहारनपुर परिक्षेत्र में 412 गांवों, 22 कस्बों, 107 सार्वजानिक कार्यालयों, मेरठ परिक्षेत्र में 152 गांवों, 13 कस्बों, 242 सार्वजानिक कार्यालयों, मुरादाबाद मे 319 गांवों, 20 कस्बों, 276 सार्वजानिक कार्यालयों, बरेली में 775 गांवों, 9 कस्बों, 175 सार्वजानिक कार्यालयों, लखनऊ में 408 गांवों, 30 कस्बों, 364 सार्वजानिक कार्यालयों, अयोध्या में 63 गांवों, 14 कस्बों, 60 सार्वजानिक कार्यालयों, देवीपाटन में 132 गांवों, 28 कस्बों, 188 सार्वजानिक कार्यालयों, गोरखपुर में 25 गांवों, 02 कस्बों, 39 सार्वजानिक कार्यालयों तथा देवरिया परिक्षेत्र में 88 गांवों, 19कस्बों, 77 सार्वजानिक कार्यालयों का सेनिटाइजेशन कराया गया है।

इस प्रकार गन्ना विकास विभाग द्वारा प्रदेश में अब तक 2374 गांवो, 157 कस्बों, तथा 1528 सार्वजानिक कार्यालयों का सेनिटाइजेशन कराया जा चुका है तथा अभी भी लगातार इस दिशा में कार्य जारी है जिससे कोरोना महामारी को रोकने में  सहायता मिलेगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles