Coronavirus Crisis के बीच भी निवेशक कुछ बातों का ध्यान रखें तो उन्हें हो सकता है ये फायदा

दुनियाभर के शेयर बाजारों की तर्ज पर Sensex और Nifty में पिछले एक सप्ताह में आई गिरावट ने निवेशकों के माथे पर बल ला दिया है। लोग हैरान-परेशान हैं। अब तक इक्विटी मार्केट में निवेश करने वालों के लाखों करोड़ रुपये स्वाहा हो चुके हैं। हालांकि, एक्सपर्ट्स का मानना है कि अब भी निवेश का मौका हाथ से नहीं निकला है। आप अब भी सतर्कता बरतते हुए अगर चुनिंदा फंड्स में निवेश कर और कुछ बुनियादी चीजों का ध्यान रखें तो Coronavirus से जुड़े संकट के इस काल में भी अच्छी कमाई कर सकते हैं। 

इंवेस्टमेंट प्लानर और टैक्स मामलों के विशेषज्ञ बलवंत जैन बताते हैं कि इस समय निवेशकों को धैर्य रखने की जरूरत है। उन्होंने 2008 के मंदी का हवाला देते हुए कहा कि उस समय भी शेयर मार्केट में भारी गिरावट देखने को मिली थी और उससे उबरने में काफी समय लगा लेकिन जब मार्केट ने एक बार रफ्तार पकड़ी तो फिर 42 हजार के आंकड़े तक पहुंचने में कुछ ज्यादा वक्त नहीं लगा। बकौल जैन अगर आपके पास समय है और पूंजी है तो यह निवेश के हिसाब से माकूल समय है क्योंकि कोरोनावायरस का प्रभाव एक समय के बाद समाप्त होगा और बाजार ऊपर जाएंगे।

इंवेस्टमेंट प्लानर और ऑथर शिल्पी जौहरी ने भी जैन की बात का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस का असर लंबा चलने की संभावना है फिर भी कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो निवेशकों को फायदा होने का अनुमान है।

आइए जानते हैं एक्सपर्ट्स की राय में निवेशकों को अभी किन बातों का ध्यान रखने की जरूरत हैः

  • घबराए नहीं, धीरज रखेंजैन और जौहरी दोनों की राय में यह समय मुश्किल भरा है लेकिन इसमें घबराकर पैसे निकालने की जरूरत नहीं है। जैन के मुताबिक बाजार को हालात सुधरने का अनुमान पहले हो जाता है और उसके बाद हालात सुधरेंगे। यह समय अफवाहों को सुनकर बिकवाली करने का नहीं है। इस समय विश्वस्त सूत्रों से प्राप्त खबर पर ही यकीन किया जाना चाहिए एवं अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से लगातार संपर्क में रहने की जरूरत है।
  • चुनिंदा सेक्टर्स में लगाएं पैसेजौहरी के मुताबिक इस समय ऐसी कंपनियों में पैसे लगाने की जरूरत है, जिनकी बुनियाद अच्छी हैं और संभावनाएं बेहतर हैं। जौहरी के मुताबिक निवेशक लांग टर्म को ध्यान में रखकर फॉर्मा क्षेत्र से जुड़ी कंपनियों में पैसे लगा सकते हैं।
  • SIP, Mutual Fund है बेहतरविशेषज्ञों की राय में इस समय चार से पांच साल की अवधि को ध्यान में रखकर SIP, Mutual Fund शुरू किया जा सकता है क्योंकि मार्केट चढ़ने के साथ अधिकतर म्युचुअल फंड का NAV बढ़ता है, ऐसा देखने को मिला है। जैन के मुताबिक मल्टीकैप फंड्स वाले म्युचुअल फंड विकल्प को चुना जा सकता है। उन्होंने Weekly SIP विकल्प को चुनने की बात भी कही।
  • लंबी अवधि का निवेश करेंजैन के मुताबिक बाजार इरेशनल तरीके से फंक्शन करता है, इसलिए इस समय लंबे वक्त को ध्यान में रखकर इंवेस्टमेंट करने का समय है। जौहरी के मुताबिक लांग टर्म गोल ज्यादा बड़े आकार के होते हैं और उनमें ज्यादा स्थिरता होती है। आपको इन चीजों को ध्यान में रखकर अपना पोर्टफोलियो तैयार करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button