बंगाल ने आजादी की लड़ाई में स्वदेशी को संकल्प बनाया : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब आस्था अपरम्पार हो, मां दुर्गा का आशीर्वाद हो, तो स्थान, स्थिति, परिस्थिति, से आगे बढ़कर पूरा देश ही बंगालमय हो जाता है। दुर्गा पूजा का पर्व भारत की एकता और पूर्णता का पर्व भी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल में आयोजित हो रहे दुर्गा पूजा समारोह में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल होकर लोगों को संबोधित कर रहे थे। पश्चिम बंगाल के लोगों ने पीएम का स्वागत शंख बजाकर किया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने रविन्द्रनाथ टैगोर का गाना गाया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार हम सभी कोरोना संकट के बीच दुर्गा पूजा मना रहे हैं। आयोजन भले ही सीमित है लेकिन उत्सव का रंग, उल्लास, आनंद असीमित है यही तो बंगाल की पहचान है। मेरा आपसे आग्रह है कि मां दर्गा पूजा के साथ ही आप दो गज की दूरी, मास्क पहने और अन्य नियमों का पालन पूरी निष्ठा से करें।

मोदी ने कहा कि बंगाल के लोगों में एक ऐसी आत्मशक्ति है जिसके कारण वो हर क्षेत्र में आगे बढ़कर उपलब्धियां पाते हैं। बंगाल के लोगों ने देश को प्रगति के मार्ग पर आगे बढ़ाया है, आज भी बढ़ा रहे हैं और ये मेरा विश्वास है कि भविष्य में भी बंगाल के लोग देश का गौरव इसी तरह बढ़ाते रहेंगे।

उन्होंने कहा कि ये बंगाल की ही धरती थी जिसने आज़ादी के आंदोलन में स्वदेशी को एक संकल्प बनाने का काम किया था। बंगाल की ही धरती से गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर और बंकिम चंद्र चटर्जी ने आत्मनिर्भर किसान और आत्मनिर्भर जीवन का संदेश दिया था।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 22 करोड़ महिलाओं के बैंक खाते खोलना हो या फिर मुद्रा योजना के तहत करोड़ों महिलाओं को आसान ऋण देना हो। चाहे ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान हो या फिर तीन तलाक के खिलाफ कानून हो। देश की नारीशक्ति को सशक्त करने के लिए निरंतर काम किया जा रहा है।

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × five =

Related Articles

Back to top button