ओवैसी के विधायक बना रहे बांग्लादेशियों को अवैध तरीके से भारतीय

केंद्र सरकार के सीएए और एनआरसी लागू कराने के मुद्दे पर सभी विपक्षी पार्टियां लगातार सरकार का विरोध करती रही हैं. कोरोना महामारी के कारण इस कानून को लागू होने से टाल दिया गया था लेकिन अब एक बार फिर केंद्र सरकार इसे जल्द लागू करने के लिए काफी एक्टिव दिखाई दे रही है. 

ओवैसी एक बार फिर चर्चा में

वहीं AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं. बता दे कि ओवैसी के नेतृत्व वाली AIMIM के दो विधायकों को पुलिस ने अवैध नागरिकता देने के मामले में गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है की इन विधायकों के पास से लेटर हेड बरामद हुए हैं.

लेटर हेड के जरिए अवैध बांग्लादेशी को भारतीय बनाया

इन दो विधायकों पर आरोप लगाए गए हैं कि इन्हीं के लेटर हेड के जरिए अवैध बांग्लादेशी नागरिकों को भारतीय नागरिक बनाया जा रहा था और उनके लिए फर्जी कागजात मुहैया कराए जा रहे थे. इन आरोपी विधायकों की पहचान मुफ्ती मोहम्मद इस्माइल और शेख आसिफ शेख ररीद के तौर पर की गई है.

पांच और विधायक हैं शामिल

सूत्रों की माने तो इन दोनों के अलावा पार्टी के पांच और विधायकों के लेटर हेड मिलने की खबर भी मिली है. लेकिन इस बारे में आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है. न ही उन विधायकों के नाम सामने आ पाए हैं. वहीँ, कहा जा रहा है कि अगर इनके पास से बरामद हुए लैटर हेड असली पाए गए, इन नेताओं की समस्या बढ़ सकती है.

मामले में दो बांग्लादेशियों को भी किया गिरफ्तार

वहीँ, इस मामले में दो बांग्लादेशियों को भी गिरफ्तार किया गया है. खबरों की माने तो ये दो बांग्लादेशी साकीनाका से दबोचे गए हैं. ये दोनों इसी इलाके में अवैध तरीके से रह रहे थे. इस मामले में पुलिस ने मालेगांव से एक एजेंट को भी हिरासत में लिया है. इनके पास से 155 आधार कार्ड, 34 पासपोर्ट, 28 पैन, आठ राशन कार्ड, 187 बैंक और डाक घर खातों की पासबुक, 19 रबड़ स्टांप व 29 स्कूल छोड़ने वाली नकली सर्टिफिकेट मिले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button