अटल के सहयोगी शिव कुमार का निधन

पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी वाजपेयी के निजी सचिव रहे शिव कुमार पारीक का निधन,रविवार 6 मार्च को चांदपोल मोक्षधाम में होगा अंतिम संस्कार.

पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के निजी सचिव रहे शिवकुमार पारीक का निधन हो गया। पारीक का उपचार के दौरान शनिवार को दिल्ली में निधन हुआ। वे 83 वर्ष के थे। उनका अंतिम संस्कार रविवार 6 मार्च को 10.30 बजे चांदपोल मोक्षधाम, जयपुर में किया जाएगा।
उनकी अंतिम यात्रा शुभम रिसोर्ट ताला मोड़, अचरोल, दिल्ली-जयपुर हाईवे से चांदपोल मोक्षधाम पहुंचेगी। स्वर्गीय शिवकुमार पारीक के दो सुपुत्र महेश और दिनेश है।
अटलजी के पास लंबे समय से सबसे खास सिपहसालार रहे शिवकुमार पारीक उनके दत्तक पुत्र माने जाते थे।
अटल जी की अंतिम समय तक सेवा करने वाले पारीक जनसंघ के जमाने से ही उनके साथ थे।
शिवकुमार केवल अटल बिहारी वाजपेयी के निजी सहायक के बतौर ही नहीं, बल्कि उनके हर राजनीतिक उतार-चढ़ाव के साक्षी रहे। उनकी अनुपस्थिति में कई साल तक शिवकुमार ने ही लखनऊ संसदीय क्षेत्र को संभाला था। जब तक वाजपेयी स्वस्थ्य थे, उनके हर पारिवारिक कार्यक्रम में शरीक हुए।
जब से भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी ने अस्वस्थता के कारण राजनीतिक और सामाजिक जीवन में सक्रियता कम कर दी, तब से शिवकुमार ही उनकी दिनचर्या को संभालते रहे थे।
लोगों को अटल जी की सुरक्षा की चिंता हुई जो जनसंघ की जड़ें मजबूत करने के लिए बगैर किसी सुरक्षा व्यवस्था के देश व्यापी भ्रमण पर रहते थे। किसी ने सुझाव दिया कि वाजपेयी को एक ऐसे सहयोगी की जरूरत है, जो उनकी रक्षा भी करे।
काफी तलाश के बाद चित्रकूट के नानाजी देशमुख ने नाम सुझाया जयपुर के निवासी शिवकुमार का। शिवकुमार का अटल बिहारी वाजपेयी से जुड़ना किसी इत्‍तेफाक से कम नहीं था।
पहले शिवकुमार आरएसएस के हार्डकोर स्वयंसेवक थे। अपने लम्बे -चौड़े गठीले शरीर और बड़ी रौबदार मूंछो के कारण वो औरों से अलग दिखते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

16 − 9 =

Related Articles

Back to top button