आर्यन खान पाबंदियों के साथ जेल से रिहा

(मीडिया स्वराज डेस्क )

आर्यन खान कई पाबंदियों के साथ जेल से रिहा हो गए।फ़िल्म अभिनेता शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन 22 दिन के बाद शनिवार को मुंबई की आर्थर रोड जेल से रिहा होकर बांद्रा स्थित अपने घर ‘मन्नत’ पहुंचे। नारकोटिक्स ब्यूरो NCB  ने उन्हें क्रूज जहाज पर मादक पदार्थ रखने के आरोप में तीन अक्टूबर को  गिरफ्तार किया था। 

आर्यन ने इस आरोप से इनकार किया था। उनके वकीलों और समर्थकों का आरोप है कि आर्यन को द्वेष के कारण ग़लत फँसाया गया और इसके पीछे सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की साज़िश थी।

हाईकोर्ट की  शर्तों के अनुसार आर्यन खान और उनके सह अभियुक्तों को विशेष एनडीपीएस अदालत में अपने पासपोर्ट जमा करने होंगे और वे विशेष अदालत से अनुमति लिये बिना भारत छोड़कर नहीं जाएंगे। उन्हें हर शुक्रवार को एनसीबी कार्यालय में पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न 2 बजे के बीच मौजूदगी दर्ज कराने आना होगा।

एक दिन पहले ही विशेष अदालत ने आर्यन की रिहाई का मेमो जारी किया था। आर्यन सुबह 11 बजे जेल से बाहर आए.

वह आठ अक्टूबर से आर्थर रोड जेल में बंद थे।। जेल से निकलते ही वह, वहां पर पहले से इंतजार में खड़ी एक कार में सवार हुए और करीब साढ़े ग्यारह बजे अपने घर पहुंच गए।आर्यन के बाहर आने से आधे घंटा पहले उनके पिता शाहरूख का अंगरक्षक वहां पर पहले से इंतजार में खड़ी सफेद रंग की रेंज रोवर कार से उतरा और जेल के द्वार के निकट खड़ा हो गया। उसे वहां तैनात पुलिसकर्मियों से बात करते देखा गया।

करीब 11 बजे कार को जेल के द्वार के निकट लाकर खड़ा कर दिया गया। इस रेंज रोवर समेत गाड़ियों का एक काफिला आठ बजे के आसपास ‘मन्नत’ से निकला था। सुबह से ही शाहरूख खान के प्रशंसकों की भीड़ जेल के बाहर एकत्रित हो गई थी। जेल के बाहर बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी भी मौजूद थे।

आर्यन के घर लौटने का जश्न मनाने के लिए भी बड़ी संख्या में प्रशंसक ‘मन्नत’ के बाहर मौजूद थे। ‘मन्नत’ के प्रवेश द्वार तक जाने वाली सड़क पर भारी भीड़ थी और आर्यन की कार आगे बढ़ सके इसलिए पुलिस तथा शाहरूख के निजी सुरक्षाकर्मियों को क्षेत्र खाली करवाना पड़ा।

एक अधिकारी ने बताया कि भीड़ को काबू में करने के लिए मुंबई पुलिस ने एहतियाती तौर पर जेल के बाहर पुलिस तैनाती बढ़ा दी थी। स्थानीय पुलिस के अलावा एसआरपीएफ दल भी वहां मौजूद था और आर्थर रोड कारागार के बाहर अवरोधक लगा दिए गए थे।




Leave a Reply

Your email address will not be published.

18 − 8 =

Related Articles

Back to top button