यूपी BJP को दूसरा झटका : पिछड़े वर्ग के एक और मंत्री दारा सिंह ने इस्तीफ़ा दिया

स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में पिछड़े वर्ग के एक और मंत्री दारा सिंह चौहान ने त्यागपत्र देकर भारतीय जनता पार्टी को तगड़ा झटका दिया है। इस तरह दो दिन में आधा दर्जन विधायक भाजपा छोड़कर जा चुके हैं। चर्चा है कि अभी  कुछ और विधायक मंत्री भारतीय जनता पार्टी छोड़ सकते हैं। 

माना जा रहा है कि पिछड़े वर्ग के लोग भारतीय जनता पार्टी में उपेक्षित महसूस कर रहे हैं और इसी कारण भाजपा से भगदड़ हो रही है। 

यह भगदड़ एक सोची समझी योजना के तहत हो रही है। समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव ने दारा सिंह चौहान के साथ भी फ़ोटो जारी करके उनका अभिनंदन किया है।

त्यागपत्र 

दारा सिंह वन विभाग के मंत्री थे। वन और जन्तु उद्यान मंत्री दारा सिंह चौहान ने अपने त्यागपत्र में लिखा है, ”मैंने पूरे मनोयोग से अपने विभाग की बेहतरी के लिए काम किया, लेकिन योगी सरकार की पिछड़ों, वंचितों, दलितों, किसानों और बेरोजगार नौजवानों की घोर उपेक्षात्मक रवैये के साथ-साथ पिछड़ों और दलितों के आरक्षण के साथ जो खिलवाड़ हो रहा है, उससे आहत होकर मैं उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे रहा हूं।

दारा सिंह चौहान का त्यागपत्र

दारा सिंह चौहान आजमगढ़ के गेलवारा गांव का रहने वाले हैं। इनकी गिनती बसपा के संस्थापक सदस्यों में होती है। स्वामी प्रसाद मौर्य भी बसपा में रहे हैं।

दारा सिंह चौहान ने अपनी राजनीति मऊ के मधुबन से शुरू की । बहुजन समाज पार्टी बसपा ने वर्ष 1996 में उन्हें राज्यसभासदस्य बनाया । 2000 में वे समाजवादी पार्टी में शामिल होकर राज्यसभा गए । वर्ष 2007 के चुनाव से पहले वे फिर बसपा में शामिल हो गए। बसपा ने उन्हें फिर 2009 राज्यसभा  पहुँचा  दिया।

दिल्ली में मोदी सरकार आने के बाद 2015 में दारा सिंह चौहान बीजेपी में शामिल हो गए। बीजेपी ने उन्हें पिछड़ी जाति प्रकोष्ठ का राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया। दारा सिंह चौहान 2017 विधान सभा के चुनाव में मधुबन सीट से जीत हासिल कर कैबिनेट मंत्री बन गए।लेकिन मंत्री होने के बावजूद पिछले दो साल से दारा सिंह बीजेपी में किनारे कर दिए गए थे। नवंबर 2021 में गृहमंत्री आजमगढ़ आये तो कार्यक्रम में दारा सिंह को आमंत्रित नहीं किया गया।बाद में 6 दिसंबर को सगड़ी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  की रैली में दारा सिंह को न केवल मंच मिला बल्कि उन्हें जनसभा को संबोधित करने का मौका भी मिला। दारा सिंह ने योगी को अब तक का सबसे मजबूत सीएम बताया  और  विपक्ष पर जमकर हमला बोला।

दार सिंह चौहान ने जब सार्वजनिक तौर पर समाजवादी पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव को जन्म दिन की बधाई दी थी तभी से उनके पार्टी छोड़ने की अटकलें चल रही थीं। समझा जाता है कि बाद में स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ एक रणनीति के तहत उन्होंने भी त्यागपत्र दे दिया। 

उधर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इन लोगों से पार्टी न छोड़ने की अपील की है।

केशव मौर्य की अपील
सता की हिस्सेदारी के लिए वर्ग संघर्ष

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − eleven =

Related Articles

Back to top button