… और अमेरिका हार गया

 अमेरिका
पंकज प्रसून, वरिष्ठ पत्रकार

‘मैंने जीत की गूंज सुनी है। ईश्वर कह रहे हैं कि यह हो चुका है। इसके लिए मैंने सुना है जीत, जीत, जीत।’

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की धार्मिक सलाहकार पाउला वाइट की अजीब प्रार्थना सोशल मीडिया में वायरल हो गई है। इस प्रार्थना में पाउला कह रही हैं कि अफ्रीका से देवदूत आ रहे हैं।

चुनाव में जीत के लिए भारत ही नहीं, दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र अमेरिका में भी टोना-टोटका और पूजा का सहारा लिया जाता है। अमेरिकी चुनाव में राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप हार की बढ़ती आशंका के बीच उनकी धार्मिक मामलों की सलाहकार पाउला वाइट ने अजीब प्रार्थना की है जो सोशल मीडिया में वायरल हो गया है।

डोनाल्‍ड ट्रंप की धर्मगुरु पाउला वाइट  ने ट्रंप के दोबारा चुनाव जीतने के लिए प्रार्थना करते समय कहा कि ये देवदूत प्रभु यीशू मसीह के नाम पर अफ्रीका से यहां आ रहे हैं। इसके बाद उन्‍होंने लैटिन भाषा में भी यही अजीब प्रार्थना लैटिन भाषा में भी जारी रखी।

वीडियो में वे कई बार बस यही दोहराती नजर आ रही हैं कि मैंने जीत की आवाज सुनी है। पाउला का यह वीडियो अब तक 47 लाख बार देखा जा चुका है। पाउला ने डेमोक्रेट पार्टी को ‘राक्षसी संघ’ करार दिया।

पाउला एक विवादास्पद धार्मिक संप्रदाय से संबद्ध है जिसका मानना है कि भौतिक समृद्धि ईश्वर की कृपा का लक्षण है।

54 वर्षीय पाउला ने तीन शादियां की हैं।

उधर कई  अमेरिकी टीवी चैनलों ने गुरुवार की देर रात राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लाइव कवरेज को अचानक बंद कर दिया।टीवी चैनलों का आरोप था कि राष्ट्रपति ट्रंप चुनावों में हो रही हार को देखते हुए कई मनगढ़ंत आरोप लगा रहे थे और चैनलों के जरिए जनता को झूठी सूचनाएं दे रहे थे। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव संपन्न होने के बाद यह डोनाल्ड ट्रंप का पहला सार्वजनिक संबोधन था।

ट्रम्प ने 17 मिनट के अपने संबोधन में कई निराधार दावे किए और उकसाने वाली बातें कहीं।उन्होंने जोर देकर कहा कि डेमोक्रेट्स “अवैध वोट” का इस्तेमाल कर “हमसे चुनाव चोरी करने” की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘चुनाव नतीजे मेरे खिलाफ चल रही साजिश का नतीजा हैं। डेमोक्रेट्स को अवैध वोट मिल रहे हैं। वे मुझसे चुनावी जीत छीनने की कोशिश कर रहे हैं। अगर लीगल वोट्स की गिनती की जाए तो मैं आसानी से जीत जाऊंगा। अब तक बैलेट्स गिने जा रहे हैं, मतलब चुनावों में धांधली हो रही है। सीक्रेट काउंटिंग चल रही है।’

ट्रम्प ने आरोपों के समर्थन में कोई सबूत नहीं दिया। वे 17 मिनट बोले और इसी तरह के झूठे दावे करते रहे। अमेरिका के तीन प्रमुख न्यूज चैनलों ABC, NBC और CBS ने इसे देश की स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनावी प्रक्रिया के खिलाफ माना और व्हाइट हाउस से ट्रम्प का लाइव कवरेज रोक दिया।

 ट्रंप का यह बयान ऐसे समय में आया जब चुनावी मैदान में उनके प्रतिद्वंद्वी और डेमोक्रेट्स उम्मीदवार जो बाइडेन जीत की ओर अग्रसर हैं ।

ट्रंप पढ़े लिखे लोगों को नापसंद करते हैं और पढ़े लिखे लोग उन्हें नापसंद करते हैं।हाल में ट्रंप ने वैज्ञानिकों को इडियट कहा था।कोरोना महामारी का उन्होंने जिस तरह मुकाबला किया उसके परिणामस्वरूप अमेरिका विश्व में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित देश बन गया है। इस महामारी से 225,000 अमरीकियों की मौत हो गई।

वैज्ञानिक समुदाय तो उनसे इतना नाराज़ है कि साइंटिफिक अमेरिकन और साइंस जैसी विश्व की प्रतिष्ठित पत्रिकाओं ने उनके खिलाफ मुहिम छेड़ दी थी।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता बाइडेन ताजा चुनाव परिणामों के बाद जहां अपनी जीत के प्रति आश्‍वस्‍त नजर आ रहे हैं, वहीं ट्रंप कोर्ट का दरवाजा खटखटाने लगे हैं।

ट्रंप की प्रचार टीम के सदस्‍य अब बचे हुए राज्‍यों में मतगणना रोकने के लिए कोर्ट से गुहार लगा रहे हैं। जार्जिया में ट्रंप की टीम ने आरोप लगाया कि देर से आने वाले 53 मतदाताओं को भी वोट डालने दिया गया। उन्‍होंने दावा किया चुनाव अधिकारी डेमोक्रेटिक पार्टी को समर्थन दे रहे थे।

इससे पहले मतगणना के बीच में डोनाल्‍ड ट्रंप ने दावा किया था, वे चुनाव जीत रहे हैं। ट्रंप का यह दावा खोखला निकला और अब वे कुर्सी बचाने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रहे हैं।

उधर, बाइडेन की लीगल टीम ने कहा है कि वे अदालत में ट्रंप की टीम का सामना करने के लिए तैयार हैं। डोनाल्‍ड ट्रंप की टीम वोटों के ल‍िहाज से बेहद अहम विस्‍कोन्सिन, पेन्सिल्वेनिया और मिश‍िगन के चुनावी नतीजों को चुनौती दे रहे हैं।

बाइडेन ने विस्‍कोन्सिन और मिश‍गिन में चुनाव जीत लिया है। इससे उनके कुल चुनावी प्रतिनिधियों की संख्‍या 264 पहुंच गई है। बाइडेन अब राष्‍ट्रपति बनने के जादुई आंकड़े 270 से बस 6 कदम की दूरी पर हैं।

2016 में मिशिगन ट्रंप के खाते में रहा था।

विस्कॉन्सिन में बाइडेन की जीत से डोनाल्ड ट्रंप संतुष्ट नहीं हैं। ट्रंप कैंपेन मैनेजर बिल स्टेपीन ने कहा, ‘विस्कॉन्सिन के कई इलाकों से मतगणना में गड़बड़ी की खबरें आई हैं, जिससे परिणामों पर सवाल खड़े होते हैं। राष्ट्रपति ट्रंप इसको लेकर फिर से मतगणना की अपील करना चाहते हैं।’

ट्रंप ने चुनाव परिणाम को सुप्रीम कोर्ट ले जाने की घोषणा की यह कहते हुए कि वे पहले ही जीत चुके हैं ! गृह युद्ध की संभावना के चलते और जनता की पत्थर बाजी की आशंकाओं से व्हाइट हाउस किला बन गया है।, चारों तरफ सुरक्षा घेरा और जगह जगह प्लाई की शीटें लगाई गई हैं।

दुनिया के इतिहास में कहीं कोई ऐसा उदाहरण नहीं है कि कोई जीता हुआ उम्मीदवार या व्यक्ति अदालत में न्याय पाने जाता है ।कोर्ट का दरवाजा हमेशा पीड़ित आदमी ही खटखटाता है।

बाइडेन ने अमेरिका के चुनावों में एक इतिहास बनाया है। उन्हें बराक ओबामा  के सन् 2008 में प्राप्त 69,498,516  वोट से भी अधिक वोट मिले हैं ।

4 नवंबर तक उन्हें  सात करोड़ सत्तर लाख वोट मिल चुके थे। अभी दो करोड़ तीस लाख वोटों की गिनती होनी बाकी है।

अब लगभग तय हो गया है कि वाइट हाउस में  बाइडेन की एंट्री होगी और कमला हैरिस उनकी डेप्‍युटी होंगी। भारत के लिहाज से अमेरिकी राष्‍ट्रपति का चुनाव बेहद अहम है क्‍योंकि हाल के दिनों में अमेरिका के साथ उसका सहयोग काफी बढ़ा है। चीन के साथ लद्दाख सीमा पर तनाव ने भारत और अमेरिका को और करीब ला दिया है। तनाव की स्थिति अब भी बरकरार है, ऐसे में नए राष्‍ट्रपति का रुख कैसा रहता है, यह देखने वाली बात होगी। बाइडेन का अमेरिकी राष्‍ट्रपति बनना भारत के लिए अच्‍छा है या बुरा, इसके कुछ संकेत पिछले दिनों मिले हैं।

बाइडेन स्क्रैंटन, पेंसिल्वेनिया के वर्किंग क्लास से आते हैं।

जैसे जैसे चुनाव के नतीजे आने लगे ट्रंप समर्थक और ट्रंप विरोधी समूहों में झड़प और मुठभेड़ होने के समाचार भी आने लगे। सुरक्षा कर्मियों ने मैनहैट्टन में कोई 60  लोगों को गिरफ्तार किया। पोर्टलैंड, ओरेगॉन में10 और न्यूयॉर्क सिटी में 50 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वे आग्नेयास्त्रों से लैस होकर लूट मार करने की जुगत में थे।

अमेरिका के चुनावों के नतीजों के बाद वहां की जैसी स्थिति बन गई है कि लगता है कि बिहार या उत्तर प्रदेश के चुनावों को देख रहे हैं।

वास्तव में यह अमेरिका की हार है।

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three + 9 =

Related Articles

Back to top button