ललितपुर: चुनावी दंगल में अखिलेश ने योगी सरकार को खूब सुनाई खरी-खोटी

ललितपुर में गुरुवार को आयोजित एक रैली में पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने परिवारवाद के आरोपों पर कहा, परिवारवाले ही परिवार का दुख समझते हैं। जिनका परिवार नहीं होता, वह लोग जनता का दुख नहीं समझ सकते।

आज समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव अपनी चुनावी विजय रथ यात्रा लेकर ललितपुर पहुँचे। मंच पर उनके साथ सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर और बसपा से सपा में आए आर एस कुशवाहा भी मौजूद थे।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ललितपुर में आज अपनी चुनावी सभा के दौरान यूपी की मौजूदा योगी सरकार और खुद योगी आदित्यनाथ पर जमकर जुबानी हमले किये। उन्होंने कहा, आज का मौसम खराब होने के बाद भी लोगों में जो उत्साह दिखाई दे रहा है, उससे लखनऊ का मौसम प्रभावित हो जाएगा।

लॉकडाउन के दौरान घर वापसी पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि ऐसी तस्वीरें देश के बंटवारे के समय भी नहीं दिखाई दी होंगी। गौशाला में जानवरों के बीच लोगों को कई दिनों तक भूखा प्यासा रखा गया

लॉकडाउन के दौरान घर वापसी पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि ऐसी तस्वीरें देश के बंटवारे के समय भी नहीं दिखाई दी होंगी। गौशाला में जानवरों के बीच लोगों को कई दिनों तक भूखा प्यासा रखा गया। सरकार ने प्रदेश के भीतर लोगों को घुसने नहीं दिया। रास्ते में गर्भवती महिलाओं ने बच्चों को जन्म दिया। भाजपा सरकार ने इन महिलाओं का भी हाल नहीं पूछा, जबकि सपा के लोग उनके घर गए और आर्थिक मदद की।

ललितपुर में गुरुवार को आयोजित एक रैली में पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने परिवारवाद के आरोपों पर कहा, परिवारवाले ही परिवार का दुख समझते हैं। जिनका परिवार नहीं होता, वह लोग जनता का दुख नहीं समझ सकते। हवाई चप्पल पहनने वालों को हवाई जहाज पर बिठाने का दावा करने वाली भाजपा ने हवाई अड्डों के साथ हवाई जहाजों को भी बेच दिया है। महंगाई इस कदर बढ़ गई है कि स्कूटर और बाइक चलाना मुश्किल हो गया। डीजल पेट्रोल के दाम हर दिन बढ़ रहे हैं।

भाजपा सरकार ने जनता को सिर्फ लाइन में ही लगाया है। नोटबंदी, कोरोना व खाद के लिए लोग लाइन में लगे रहे हैं। इसी तरह लाइन में लगकर एक एक वोट देकर इनको हटाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने जनता को सिर्फ लाइन में ही लगाया है। नोटबंदी, कोरोना व खाद के लिए लोग लाइन में लगे रहे हैं। इसी तरह लाइन में लगकर एक एक वोट देकर इनको हटाया जाएगा। सपा सरकार आई तो बुंदेलखंड में किसानों के लिए खाद का पूरा इंतजाम किया जाएगा।

उन्होंने आगे कहा कि हमने पढ़ा था कि योगी लोग जो होते हैं, वे दूसरों के लिये सोचते हैं, अपने लिये नहीं, लेकिन ये चिलम वाले योगी हैं, जो केवल अपने बारे में सोचते हैं। साढ़े चार साल तक ये लोग कुछ नहीं कर पाये, अब लोकार्पण पर लोकार्पण किये जा रहे हैं।

हमने तो लोगों को लैपटॉप बांटा ताकि वे अपनी पढ़ाई कर सकें। लेकिन ये लोग योगी जिन्हें लैपटॉप चलाना तक नहीं आता, वे क्या नौजवानों को लैपटॉप बांटेंगे? अब साढ़े चार बाद बोल रहे हैं कि टैबलेट और मोबाइल बांटेंगे, तो इतने दिनों तक ये क्या कर रहे थे?

अखिलेश बोले, महंगाई और बेरोजगारी इस कदर बढ़ती जा रही है कि लोगों के लिये ​उसे वहन करना मुश्किल होता जा रहा है, लेकिन इन्हें इससे कोई वास्ता नहीं है। हमने तो लोगों को लैपटॉप बांटा ताकि वे अपनी पढ़ाई कर सकें। लेकिन ये लोग योगी जिन्हें लैपटॉप चलाना तक नहीं आता, वे क्या नौजवानों को लैपटॉप बांटेंगे? अब साढ़े चार बाद बोल रहे हैं कि टैबलेट और मोबाइल बांटेंगे, तो इतने दिनों तक ये क्या कर रहे थे?

न नौकरी, न रोजगार। अगर कहीं नौकरी निकल भी रही है तो कभी परीक्षा निरस्त हो जाता है तो कभी पेपर ही लीक हो जाते हैं। ये सरकार अपना लीक ही ठीक नहीं कर पा रही है। समाजवादी सरकार आई तो कभी न तो पेपर लीक होगी और न ही परीक्षा निरस्त होंगे।

हमने 100 नंबर शुरू किया था, ताकि आम जनता तक उनकी परेशानियों में पुलिस पहुंच सके। लेकिन इस सरकार ने 100 का 112 क्या किया कि सब बेकार हो गया। पुलिस बेकार हो गई। जितना अन्याय यूपी में हो रहा है, उतना कहीं नहीं हो रहा। पुलिस केस भी तब फाइल करती है जब अपनी जाति आप बताते हैं वरना नहीं। क्या यही सरकार दमदार सरकार है?

अब आप ही देख लीजिए, आपको योगी की सरकार चाहिए या एक योग्य सरकार? योग्य सरकार समाजवादी पार्टी की ही हो सकती है, जिसने आपको लैपटॉप दिये, एंबुलेंस दिये, बिजली का कारखाना लगवाया, पुराने प्रोजेक्ट्स भी समय से पूरा करके दिखाया, न कि चुनाव के समय केवल लोकार्पण किये।

अब आप ही देख लीजिए, आपको योगी की सरकार चाहिए या एक योग्य सरकार? योग्य सरकार समाजवादी पार्टी की ही हो सकती है, जिसने आपको लैपटॉप दिये, एंबुलेंस दिये, बिजली का कारखाना लगवाया, पुराने प्रोजेक्ट्स भी समय से पूरा करके दिखाया, न कि चुनाव के समय केवल लोकार्पण किये। उन्होंने कहा कि बिजली का कारखाना मैंने लगा ​तो दिया लेकिन बिजली बिल जिस तरह का आया, उससे यहां के लोग परेशान हो गये, समाजवादी सरकार आयी तो ऐसा नहीं होगा। सबके बिजली बिलों पर उम्मीद से ज्यादा राहत हम करेंगे।

किसान आंदोलन और लखीमपुर खीरी हत्याकांड को लेकर भी अखिलेश ने योगी सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि योगी सरकार अपना हक मांग रहे किसानों पर पीछे से बुलडोजर चलवा सकती है। ये जलियांवाला बाग की तरह किसानों के साथ अत्याचार कर सकते हैं। अब जाकर जो ये तीन कृषि कानून वापिस लिये गये हैं, वे भी खुशी से नहीं, बल्कि वोट के लिए लिये गये हैं। लेकिन इससे किसान खुश नहीं होगा। किसान खुश तब होगा ​जब भाजपा की सरकार यूपी ही नहीं, केंद्र से भी हट जाय।

अखिलेश यादव का पूरा भाषण यहां सुनें:

जो लोग किसानों पर पीछे से जीप चलवा दें, उनसे अब आप भले की क्या उम्मीद करोगे? इसलिये किसान दुखी है, नौजवान दुखी है, व्यापारी बर्बाद हुआ है, इसलिये जाति और धर्म के इस खेल में यूपी को पीछे धकेलने का काम किया गया है। समाजवादी सरकार ललितपुर का विकास करके उसे आगे बढ़ाएगी। किसानों को खुशहाल बनाने के लिये हम नई से नई योजना लेकर आयेंगे।

दूसरी ओर, सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा, बिजली के बिल से कौन कौन परेशान है। अखिलेश यादव की सरकार बनी तो 300 यूनिट बिजली फ्री होगी। अखिलेश यादव को हर हाल में मुख्यमंत्री बनवाना है।

उपचुनाव हारने के बाद से बीजेपी डर गई है इसलिये पेट्रोल का रेट घटाया। आप सब उत्तर प्रदेश से बीजेपी को बेदखल कर दो, महंगाई अपने आप कम हो जाएगी।

उन्होंने आगे कहा कि उपचुनाव हारने के बाद से बीजेपी डर गई है इसलिये पेट्रोल का रेट घटाया। आप सब उत्तर प्रदेश से बीजेपी को बेदखल कर दो, महंगाई अपने आप कम हो जाएगी।

सुभासपा प्रमुख ने कहा, 15-15 लाख रुपये कहाँ हैं। बुंदेलखंड में सबसे ज़्यादा गरीबी है। बीजेपी के लोग आपके बीच आ कर झूठ बोलेंगे। बीजेपी के लोगों की सिर्फ जीभ चलती है। योगी जी को मैं कहता हूं कि आप मठ में जाओ। पिछड़ों का रिज़र्वेशन BJP ने लूट लिया है।2022 के चुनाव में “खदेड़ा होबे”। जब तक बीजेपी की विदाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं।

इसे भी पढ़ें:

क्या योगी मंत्रिमंडल के पुनर्गठन और सत्ता में साझेदारी के लिए तैयार हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

2 + 14 =

Related Articles

Back to top button