मीडिया के अर्ध सत्य से पंचू काका काहे भड़क गए

गँवई बतकही :आम लोगों की ज़ुबान में मीडिया स्वराज़ की पेशकश

आज तथाकथित मुख्य धारा की मीडिया से लोगों का विश्वास उठता जा रहा है , वजह है तथ्यों की तोड़ मरोड़ , अर्ध सत्य , सनसनी खेज और मसालेदार खबरों की तरफ रुझान, टी आर पी की होड़ और ग्राउंड रिपोर्टिंग का लगभग न होना। ऐसे में वैकल्पिक_मीडिया, मीडिया के लोकतंत्रीकरण का एक मात्र रास्ता रह जाता है। #सामुदायिक_मीडिया एवं नागरिक_पत्रकारिता का उभार इसी ओर संकेत करता है। पंचू बता रहे हैं मुख्य धारा की मीडिया का खोखलापन. अजय कुमार उर्फ़ पंचू काका मूलत: मंझनपुर, ज़िला कौशांबी, उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं . शिक्षा: इलाहाबाद विश्व विद्यालय से . तीन दशकों तक देश की ऊर्जा राजधानी सिंगरौली में विस्थापन के मुद्दे पर सक्रिय रहे . संप्रति इंदौर में रहकर स्वतंत्र लेखन.

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button