कवि निराला के व्यक्तित्व के विविध आयाम

अजित कुमार से विजय राणा की बातचीत

डा विजय राणा, लंदन से 

प्रसिद्ध हिंदी लेखक अजित कुमार के साथ ये बातचीत मैंने लंदन में अपने बीबीसी के सहयोगी ओंकारनाथ श्रीवास्तव के घर वर्षों पहले रिकॉर्ड की थी. हिन्दी के महानतम कवि और छंद मुक्त हिन्दी कविता के प्रणेता सूर्यकांत त्रिपाठी निराला उन्नाव में अजित कुमार जी के घर अक्सर ठहरने आते थे।अजित जी की आयु कम थी और निराला जी को उन्हीं के कमरे में ठहराया जाता था। और जब अजित कुमार इलाहबाद विश्वविद्यालय में पढने गए तो एक बार फिर उन्होने निराला जी से मिलने का सिलसिला शुरू किया। इस बातचीत में वो निराला जी के व्यक्तित्व के विविध आयामों पर प्रकाश डालते हुए, उनके बिगड़ते मानसिक स्वास्थ्य का मार्मिक विवरण प्रस्तुत कर रहे है।
विजय राणा, लंदन।कृपया  सुनने के लिए यह लिंक क्लिक करें :

https://www.youtube.com/watch?v=h6Hl_YrTef4

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles