कोरोना वायरस के मामलों के बीच आज हुई भाजपा की संसदीय दल की बैठक….

देशभर में सामने आ रहे कोरोना वायरस के मामलों के बीच आज (मंगलवार) भाजपा की संसदीय दल की बैठक हुई। बैठक के बारे में जानकारी देते हुए संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि आज की बैठक में, पीएम ने डॉक्टरों, नर्सों और बंदरगाह और हवाई अड्डों पर काम करने वाले लोगों के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने COVID-19 के बारे में जागरूकता फैलाने में अपनी भूमिका के लिए इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया की भी सराहना की है।

बता दें कि बैठक में हिस्सा लेने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री और पार्टी नेता नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण और प्रहलाद जोशी सहित पार्टी के सभी वरिष्ठ नेता मौजूद हैं। भाजपा संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने आज कुछ सांसदों द्वारा सदन के सत्र को रोकने के लिए भेजे गए पत्र पर निराशा व्यक्त की। उन्होंने कहा कि हम देश के 130 करोड़ लोगों के प्रतिनिधि हैं।

साथ ही पीएम मोदी ने आज कहा कि संसद 3 अप्रैल तक चलेगी। उन्होंने सांसदों से कहा कि वे कोरोनवायरस के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए अपने निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा करें।

इसी बीच बीजेपी सांसद राजकुमार चाहर एक टोपी पहनकर पहुंचे जिस पर लिखा है कि ‘करो ना हैंडशेक-करो नमस्ते’। पहले से ही ऐसा भी माना जा रहा था कि इस मुद्दे पर सांसदों को जन जागरण अभियान चलाने के लिए कहा जा सकता है।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस अब करीब 150 के करीब देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। भारत में भी अब तक 128 मामलों की पुष्टि हो चुकी हैं। हालांकि, सरकार ने सभी जरुरी इंतजाम किए हैं। पीड़ितों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। एयरपोर्ट पर लाखों लोगों की स्कैनिंग हो चुकी हैं और अभी भी जारी हैं। वहीं वायरस से संक्रमित 13 लोग अब तक ठीक हो गए हैं और 3 लोगों की मौत हो चुकी हैं। हालांकि, तीनों की उम्र 60 वर्ष से अधिक है।

जानकारी के लिए बता दें कि पिछली बैठक में पीएम मोदी ने सांसदों को जमकर फटकार लगाई थी। साथ ही उन्हें नसिहत दी थी कि वह देश के लिए समय निकाले। साथ ही दिल्ली में हुई हिंसा पर विपक्ष और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और विपक्ष को भी आढ़े हाथ लिया था। इस दौरान दिल्ली हिंसा पर विस्तृत टर्चा की गई थी। ऐसे में समझा जा रहा है कि आज मोदी कोरोना वायरस से संबंधित जानकारी साझा करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button