टूथपेस्ट में ब्लीच से कमजोर होते हैं दांत

दांतों को चमकाने के लिए लोग तरह-तरह के टूथपेस्ट (Toothpaste) और प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं. टूथपेस्ट (Toothpaste) से दांत साफ तो हो जाते हैं, लेकिन इनमें रसायन होने के कारण यह दांतों को नुकसान भी होता है. विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि ऐसे उत्पादों से बचना चाहिए क्योंकि कई बार इनमें ब्लीच पाउडर भी मिलाया जाता है. ब्लीच पाउडर दांतों को चमकाता जरूर है, लेकिन इसकी अधिक मात्रा दांतों की नैसर्गिक सुंदरता को तो खत्म कर देती है. साथ ही दांतों को नुकसान भी पहुंचाती है. ब्लीच से दांतों को क्या नुकसान हो सकते हैं इसके बारे में हम आपको बता रहे हैं…

कमजोर होते हैं दांत

myUpchar से जुड़े डॉ. रजी अहसान ने बताया कि ब्लीच के इस्तेमाल से दांत के दाग धब्बे और पीलेपन को दूर किया जा सकता है, लेकिन इसके अधिक इस्तेमाल से दांत कमजोर और सेन्सिटिव हो जाते हैं, लेकिन कभी-कभी डॉक्टर से भी दांत की सफाई करवाई जा सकती है.

मसूड़ों के लिए नुकसानदायक

ब्लीच में हाइड्रोजन पेरॉक्साइड होता है, इस वजह से इससे मसूड़ों पर जलन होने लगती है इसलिए इसका इस्तेमाल अधिक नहीं करना चाहिए. ज्यादा उपयोग करने से मसूड़ों में जलन या घाव की समस्या लंबे समय तक बने रहना नुकसानदायक हो सकता है. इसके अधिक उपयोग से मसूड़े कमजोर भी होते हैं.

दांतों को सफेद और चमकदार बनाने के घरेलू उपाय

यदि हम दिनभर टीवी देखें तो पाएंगे कि कई कंपनियों के टूथपेस्ट के विज्ञापन अलग-अलग तरह से ग्राहकों को लुभाते नजर आएंगे. हर टूथपेस्ट कंपनी खुद को अलग और बेहतर साबित करती है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि बीते जमाने में दांतों को कैसे स्वस्थ और स्वच्छ रखा जाता था. आज हम आपको बताते हैं कुछ ऐसी दातुन के बारे में जिनके नियमित इस्तेमाल से आपके दांतों की बीमारी तो दूर होगी, साथ में प्राकृतिक रूप से दांतों में चमक और खूबसूरती भी आएगी.
नीम के दातून का करें इस्तेमाल
myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, नीम का उपयोग हर प्रकार से लाभदायक ही होता है, यदि नीम के दातून से दांतों को भी साफ किया जाए तो दांत का पीलापन दूर हो जाएगा. साथ ही इससे दांत मजबूत होंगे. मसूड़े भी मजबूत रहते हैं.

पीपल का दातून

पीपल का दातून करने से दांत चमकने के साथ-साथ मसूड़े भी मजबूत होते हैं. इसके आलावा दांतों में कीड़े भी नही लगते हैं. गांवों में भी अधिकतर लोग पीपल के दातुन का इस्तेमाल करते हैं, इसलिए उन्हें दांतों से संबंधित समस्याएं कम होती हैं.

सेब के सिरके का दांतों के लिए इस्तेमाल

दांतों की सफाई और पीलापन दूर करने के लिए सेब का सिरका भी काफी असरदार होता है. सेब के सिरके से दातों पर अच्छी तरह थोड़ी देर के लिए मसाज करना चाहिए. सेब के सिरके का इस्तेमाल दांतों के लिए हफ्ते में एक बार किया जाना सही है क्योंकि इससे दांतों में सेंसिटीविटी बढ़ सकती है.

बेकिंग सोडा भी काफी लाभकारी

बेकिंग सोडा दांतों को साफ करने के लिए काफी उपयोगी माना जाता है. इसके लिए बेकिंग सोडे में नींबू का रस मिलाकर ब्रश करने से दांत का पीलापन दूर हो जाता है और दांत अच्छे से साफ भी हो जाते हैं. बेकिंग सोडा का इस्तेमाल रोज नहीं करना चाहिए इससे दांतों को नुकसान भी हो सकता है.

Related Articles