भारत और बांग्लादेश के बीच 55 वर्षों के बाद फिर खुलेंगे रेल मार्ग

भारत और बांग्लादेश के बीच 55 वर्षों के बाद पुनः रेल मार्ग खुलने जा रहा है. 17 दिसंबर को पीएम नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना पश्चिम बंगाल के हल्दीबाड़ी और पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश के चिल्हाटी के बीच का रेल मार्ग का उद्घाटन करेंगी. नॉर्थईस्टफ्रंटियर रेलवे के अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी दी है.

बता दें कि कूच बिहार के हल्दीबाड़ी से उत्तरी बांग्लादेश के चिल्हाटी तक की रेल लाइन भारत और फिर पूर्वी पाकिस्तान के मध्य 1965 में रेल संपर्क टूटने के बाद खराब हो गई थी. NFR के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुभान चंदा ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी और बांग्लादेशी पीएम शेख हसीना 17 दिसंबर को हल्दीबाड़ी-चिल्हाटी रेल मार्ग का शुभारंभ करेंगे.

सुभान चंदा ने कहा कि चिरहटी से हल्दीबाड़ी रूट पर एक मालगाड़ी चलेगी, जो कि NRF के कटिहार डिवीजन के अधीन है. कटिहार के मंडल रेल प्रबंधक रविंद्र कुमार वर्मा ने कहा कि रेल मंत्रालय ने मंगलवार को रेल मार्ग को फिर से खोलने के फैसले की जानकारी अधिकारियों को दी है.

NFR के सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा से हल्दीबाड़ी रेलवे स्टेशन की दूरी 4.5 किमी है, जबकि बांग्लादेश के चिल्हाटी की दूरी जीरो प्वॉइंट से 7.5 किमी के लगभग है. हल्दीबाड़ी और चिल्हाटी दोनों स्टेशन सिलीगुड़ी और कोलकाता के बीच पुराने ब्रॉड गेज रेलवे मार्ग पर थे, जो मौजूदा बांग्लादेश के क्षेत्रों से होकर गुजरते थे.

support media swaraj

Related Articles

Back to top button