यूपी में इस साल नहीं होंगे पंचायत चुनाव

बन रही है वोटर लिस्ट, अगले महीने होगी जाँच, 29 दिसंबर को वोटर लिस्ट का प्रकाशन

लॉकडाउन के हटते ही उत्तर प्रदेश में होने वाले पंचायत चुनाव की प्रक्रिया आरम्भ हो चुकी है।

राज्य निर्वाचन आयोग ने इसके बारे में बीते मंगलवार को विस्तृत कार्यक्रम जारी किया।

अक्टूबर से बूथ लेबल आफिसर (बीएलओ) घर-घर जाकर वोटर लिस्ट की जांच करने वाले हैं।

उसके बाद 29 दिसंबर को वोटर लिस्ट का प्रकाशन किया जाएगा।

इससे साफ है कि इस साल सूबे में पंचायत चुनाव किसी भी स्थिति में नहीं हो सकेंगे।

उत्तर प्रदेश की 59,163 ग्राम पंचायतों के मौजूदा ग्राम प्रधानों का कार्यकाल 25 दिसंबर को खत्म हो जायेगा।

अगले साल 13 जनवरी को जिला पंचायत अध्यक्षों और 17 मार्च को क्षेत्र पंचायत अध्यक्षों का कार्यकाल भी खत्म हो जाएगा।

सूबे में वोटर लिस्ट पुनरीक्षण के कार्यक्रम का ऐलान बीते मंगलवार को किया जा चुका है।

यह करीब साढ़े तीन महीने तक चलने वाला है।

ऐसे में इस साल पंचायती चुनाव हो पाना मुश्किल दिखाई दे रहा है।

पंचायत के चुनाव कराने के लिए चुनाव आयोग को कम से कम 6 महीने का समय चाहिए।

ऐसे में प्रदेश सरकार इस बार जिला पंचायत सदस्य, बीडीसी, प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य का चुनाव एक साथ करवा सकती है।

support media swaraj

Related Articles

Back to top button