पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को नहीं पसंद धोनी की तारीफ़

महेंद्र सिंह धोनी के 15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद से ही पूरी दुनियाभर के क्रिकेटर्स उन्हें सलाम कर रहे हैं. इनमें पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी भी शामिल हैं. शोएब अख्तर, आमिर सोहेल और सकलैन मुश्ताक ने भी धोनी की कप्तानी और उनके क्रिकेट में योगदान को लेकर तारीफ की थी. लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को धोनी की तारीफ नहीं भा रही है. पीसीबी ने अपने दिग्गज टेस्ट स्पिनर सकलैन मुश्ताक को धोनी की तारीफ करने पर फटकार लगाई है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) को याद दिलाया कि वह बोर्ड के कर्मचारी हैं और यूट्यूब पर वीडियो नहीं डाल सकते. सकलैन पीसीबी के हाई परफोर्मेंस केंद्र में अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी विकास के प्रमुख हैं. सूत्र ने बताया, पीसीबी धोनी की सराहना के लिए सकलैन से खुश नहीं हैं और भारतीय क्रिकेट के मामलों में संभावित हस्तक्षेप से भी नहीं जब उन्होंने धोनी को विदाई मैच नहीं देने के लिए बीसीसीआई की आलोचना की.

पीसीबी ने पहले भी दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण रिश्तों के कारण राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ियों को भारतीय क्रिकेट या खिलाड़ियों पर प्रतिक्रिया देने से बचने की सलाह दी है. सूत्र ने कहा कि सकलैन के वीडियो डालने के बाद पीसीबी ने हाई परफोर्मेंस केंद्र और प्रांतीय टीमों के सभी अन्य कोचों को इस तरह के कदम से बचने को कहा है.

सकलैन ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा था, बीसीसीआई धोनी जैसे बड़े खिलाड़ियों से सही तरह से पेश नहीं आते. धोनी का संन्यास इस तरह से नहीं होना चाहिए था. मैं दिल से ये बात कह रहा हूं. मैं बीसीसीआई से माफी मांगता हूं, लेकिन उन्होंने धोनी से अच्छा बर्ताव नहीं किया. मैं दुखी हूं.

Related Articles