जय श्री राम बोलना है तो बंगाल छोड़ो

TMC नेता का वीडियो हुआ वायरल

पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव का भले ही अब तक ऐलान ना हुआ हो, लेकिन राज्य में सियासी हलचल तेज होने लगी है। इस क्रम में टीएमसी नेता का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें जय श्री राम कहने वालों को वह बंगाल से निकल जाने की चेतावनी दे रहे हैं।

भाजपा और टीएमसी  दोनों एक दूसरे पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। इसी क्रम में बंगाल भाजपा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो में एक टीएमसी नेता (जैसा कि भाजपा बंगाल द्वारा दावा किया गया है) लोगों को धमकाते हुए नज़र आ रहे हैं। https://twitter.com/BJP4Bengal/status/1329341141200887810

कथित तौर पर टीएमसी नेता लोगों से कह रहे है कि यदि उन्हें बंगाल में रहना है, तो वे ‘जय श्री राम’ के नारे नहीं लगा सकते।
वीडियो में देखा जा सकता है कि टीएमसी नेता किसी सभा को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने कहा कि टीएमसी शासित राज्य में ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। साथ ही यह भी कहा कि जिसको भी ‘जय श्री राम’ का नारा लगाना है तो वह गुजरात जा सकता है। वीडियो में बंगाली में एक बयान में नेता ने कहा कि राज्य में यह नारा लगाने की इजाजत नहीं है। उन्होंने कहा, “इन सब चीजों को यहाँ इजाजत नहीं दी जाएगी। जो लोग इसका जाप करना चाहते हैं वे मोदी के राज्य गुजरात में जा सकते हैं।” हालाँकि, यह वीडियो कब का है इस संबंध में कुछ नहीं बताया गया है।

https://mediaswaraj.com/shah-attacks-mamta-government-shonar-bangla-will-make-in-5-years/
आपको बता दें कि जय श्री राम नारे के प्रति टीएमसी की नफरत कोई आज की बात नहीं है। गत वर्ष खुद सीएम ममता बनर्जी ने इस नारे को लेकर खुले तौर पर अपनी नापसंदगी जाहिर की थी। गत वर्ष 2019 मई में ममता बनर्जी ने उस वक़्त धैर्य खो दिया था, जब कुछ लोग सड़क पर जय श्री राम के नारे लगा रहे थे। यह नारा सुनकर वह अपनी गाड़ी से नीचे उतरकर लोगों से भिड़ गई थीं। यही नहीं, नारा लगाने वाले लगभग 10 से 12 लोगों को गिरफ्तार तक कर लिया गया था।

One cannot even utter “Jai Shree Ram” in Mamata’s Bengal! TMC leader openly threatening and asking people to move to Gujarat, if they want to chant Jai Shri Ram… pic.twitter.com/xiNEFg9yEE
— BJP Bengal (@BJP4Bengal) November 19, 2020

support media swaraj

Related Articles

Back to top button