गाजर का रस पौष्टिकता से भरपूर

 विशेषज्ञों के मुताबिक गाजर का रस पौष्टिकता से भरपूर होता है. एक कप गाजर का रस स्वास्थ्य के लिए जरूरी तत्वों की पूर्ति करता है. उसकी अहमियत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 2.24 ग्राम प्रोटीन, 0.35 ग्राम वसा, 21.9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स, 1.9 ग्राम फाइबर, 689 मिलीग्राम पोटैशियम, 20 मिलिग्राम विटामिन सी, 0.512 मिलीग्राम विटामिन बी6, 2.256 माइक्रोग्राम विटामिन ए सिर्फ एक कप गाजर के जूस में मिल जाते हैं.

आंत के कैंसर के लिए गाजर का इस्तेमाल

गाजर एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. एक शोध में बताया गया है कि गाजर का रस आंत के कैंसर को रोकने में मददगार साबित हो सकता है. अगर लगातार गाजर खाया जाए तो आंत के कैंसर होने का 26 फीसद खतरा कम हो जाता है.
सांस और फेफड़ों की बीमारी के लिए
गाजर के रस में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. ये सांस का एक रोग क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (COPD) के जोखिम को कम करता है.

ल्यूकेमिया में पहुंचाता है फायदा

एक शोध में बताया गया है कि गाजर के रस में ल्यूकेमिया की कोशिकाएं खत्म करने की क्षमता होती हैं. ल्यूकेमिया दरअसल एक प्रकार का ब्लड कैंसर है. जिसमें शरीर की सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या असामान्य रूप से बढ़ती हैं और इनके आकार में भी परिवर्तन होता है. गाजर का रस उनके फैलाव को रोकता है. हालांकि अभी पुख्ता तौर पर ये बात साबित नहीं की जा सकी है.
गाजर के अन्य फायदे
गाजर में मौजूद विटामिन ए आंखों के लिए मुफीद होता है. उसमें पाया जानेवाला फाइबर खून में कोलेस्ट्रोल कम करता है. साथ ही वजन को भी काबू में रखता है.

Related Articles