नस्लें तबाह होंगी पर हैदराबाद का नाम नहीं बदलेगा- ओवैसी

हैदराबाद निकाय चुनाव को लेकर इस समय बीजेपी और एआईएमआईएम के बीच जुबानी जंग चल रही है। आए दिन कभी BJP के नेता एआईएमआईएम के नेता पर बरस रहे हैं तो कभी एआईएमआईएम के नेता BJP के खिलाफ बोल रहे हैं।

बीते दिनों ही UP के सीएम योगी हैदाराबाद दौरे पर गए थे और उन्होंने वहां बहुत कुछ कहा था। अब उनके बयानों पर असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया है। हाल ही में ओवैसी ने अपने बयान में कहा कि, ‘जो शख्स हैदराबाद का नाम बदलना चाहता है उनकी नस्लें तबाह हो जाएगी लेकिन नाम नहीं बदलेगा। हम अली के नाम लेवा हैं हम तुम्हारा नाम तब्दील कर देंगे। मैं आप लोगों (वोटर्र्स) को वास्ता देता हूँ आप लोगों को जवाब देना होगा उन लोगों को जो शहर का नाम बदलना चाहते है।’

इसी के साथ आगे अपने बयान में उन्होंने BJP पर निशाना साधते हुए कहा, ‘बीजेपी ने इस चुनाव में इतने लोगों को बुला लिया है, अब खाली डोनाल्ड ट्रंप का आना बाकी है। वो भी आ जाएं तो भी कुछ नहीं होगा, क्योंकि उसका भी हाथ थामकर पीएम मोदी ने कहा अबकी बार ट्रंप सरकार लेकिन वो भी गड्ढे में गिर गया।’ इसी के साथ आगे उन्होंने यह भी कहा कि, ‘ये लोग लाख जिन्ना जिन्ना कर लें। हमने जिन्ना की मोहब्बत को ठुकराया। जो रजाकार थे पाकिस्तान चले गए और जो वफादार थे वो हैदराबाद में रह गए।’

आगे अपने बयान में उन्होंने योगी के हैदराबाद का नाम भाग्यनगर करने वाले बयान पर कहा, ‘बीजेपी का लक्ष्य हैदराबाद का नाम बदलना है। यह चुनाव भाग्यनगर बनाम हैदराबाद है। वो हमें सांप्रदायिक कहते हैं तो ये बताइए हमने हिंदुओंं को टिकट दिया है, अब बीजेपी बताए कि बीजेपी ने कितने मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है। बीजेपी का लक्ष्य केवल हैदराबाद का नाम बदलना है। ये भाग्यनगर बनाम हैदराबाद है। मैं संविधान की शपथ लेता हूं और ये लोग मुझे जिन्ना कहते हैं।’

क्या कहा था योगी ने- बीते दिनों हैदराबाद में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे योगी ने रोड शो के दौरान कहा था, ” हम सबको यह तय करना है कि एक परिवार और मित्र मंडली को लूट खसोट की आजादी देनी है या फिर हैदराबाद को भाग्यनगर बनाकर विकास की नई बुलंदियों पर ले जाना है। मित्रों ये आपको तय करना है।”

इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था, ‘कुछ लोग पूछ रहे थे कि क्या हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर किया जाएगा? मैंने कहा- क्यों नहीं, बीजेपी के सत्ता में आने के बाद जब फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या हो गया, इलाहाबाद का नाम प्रयागराज हो गया तो फिर हैदराबाद का नाम भाग्यनगर क्यों नहीं हो सकता है।’

support media swaraj

Related Articles

Back to top button