दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ता और उसके बेटे की सरेआम हत्या

बदमाशों ने पूर्वी दिल्ली के नंद नगरी इलाके में सोमवार सुबह मुस्लिम भाजपा कार्यकर्ता जुल्फिकार कुरैशी की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी। इसके साथ ही वहां मौजूद उसके बेटे जांबाज कुरैशी पर भी चाकू से कई वार किए। उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। वहीं, वारदात को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गए। जुल्फिकार भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा व संघ से जुड़े इंद्रेश कुमार के हिमालय परिवार से जुड़े हुए थे।

वहीं, पुलिस ने बताया है कि जांबाज ने मरने से पहले तीन बदमाशों नासिर, राशिद और ताहिर का नाम लिया है। तीनों सुंदर नगरी के रहने वाले हैं। जुल्फिकार की तीनों से रंजिश चल रही थी। तीनों बदमाशों का सुंदर नगरी में कबाड़े का काम है।

जुल्फिकार कुरैशी ने कई माफिया और मादक पदार्थ बेचने वालों के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ था। उनकी हत्या क्यों हुई? अभी इसका खुलासा नहीं हो सका है। 

जुल्फिकार कुरैशी और उनके पुत्र जांबाज कुरैशी फ़ज़ीर की नमाज पढ़कर सोमवार सुबह जैसे ही मस्जिद से बाहर निकले। वहां पर पहले से ही गली में घात लगाए बैठे बदमाशों ने दोनों पर हमला कर दिया। सुबह का वक्त होने के कारण भीड़ नहीं थी। ऐसे में मदद भी नहीं मिल गई।

स्थानीय लोगों की मानें तो जुल्फिकार कुरैशी पर पहले भी कई बार हमले हो चुके है। पुलिस की ओर से उन्हें एक पीएसओ भी मिला हुआ है, वारदात के वक्त वह साथ नहीं था। 

support media swaraj

Related Articles

Back to top button