संत राम का ठीहा : भगवान अपने ऊपर कोई दोष नहीं लेते

यह कहानी  एक दार्शनिक रिक्शा चालक संत राम की है. बीबीसी के पूर्व संवाददाता राम दत्त त्रिपाठी की मुलाक़ात  संत राम ६७ वर्ष और उनके मित्र मिश्री लाल ८० वर्ष से विक्रमादित्य मार्ग फुट पाठ पर हुई थी. अंगूठा छाप होने के बावजूद  संत राम भारत की श्रुति और स्मृति परम्परा से धर्म, दर्शन की गूढ़ … Continue reading संत राम का ठीहा : भगवान अपने ऊपर कोई दोष नहीं लेते