कोरोना काल में शहर और गाँव का अंतर साफ़ दिखा

कोरोना काल में शहर और गाँव का अंतर साफ़ दिखा. इस लेख में दीपक गौतम कहते हैं कि “गांव ही शाश्वत हैं और शहर छद्म हैं, छल हैं, प्रपंच हैं, सबसे बड़ा पाखण्ड हैं। असल में वो सिवाय फरेब के कुछ नहीं हैं। मैं तो यही मानकर चल रहा हूँ। भले ही वो जरूरी हो … Continue reading कोरोना काल में शहर और गाँव का अंतर साफ़ दिखा