कांग्रेस नेता राहुल गांधी बोले- स्पीकर ने नहीं दिया पूरक प्रश्न पूछने का मौका

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने मंगलवार को कहा कि सांसद होने के नाते उनके कुछ अधिकार हैं लेकिन स्‍पीकर की ओर से वह अधिकार नहीं दिया गया और वे पूरक प्रश्‍न पूछ नहीं पाए। इसके अलावा उन्‍होंने तमिल (Tamil) भाषा व आर्थिक मंदी  (Economy Slowdown) का मुद्दा भी उठाया और कहा कि सरकार इसके लिए कुछ नहीं कर रही है। राहुल ने कहा कि लोकसभा सबके लिए है और यहां चर्चा होनी चाहिए। उन्‍होंने कहा, ‘आजकल सदन में कोई चर्चा नहीं होती, किसी को कुछ पूछने का भी अधिकार नहीं। यहां अब वन वे ट्रैफिक है और वह लाउडस्‍पीकर की तरह हो गया है।’

आर्थिक मंदी को लेकर सरकार पर हमला बोलते हुए उन्‍होंने कहा, ‘मैं कोरोना वायरस (COVID19) से पहले से कह रहा था कि आर्थिक सुनामी आने वाली है। मैं सरकार से कह रहा हूं कि तैयारी शुरू कर दे लेकिन कुछ नहीं हो रहा। मुझे इसका दुख है देश में ऐसा आर्थिक झटका होगा कि करोड़ों लोगों को हानि झेलनी पड़ेगी।’

राहुल ने कहा, ‘जब आप सवाल करते हैं तो आपको पूरक (supplementary) प्रश्‍न पूछने का हक है। स्‍पीकर ने मुझे चोट पहुंचाई ठीक है। मैं समझ गया कि वह नहीं चाहते हैं कि मैं बोलूं। मैं सांसद हूं, मेरे पास कुछ अधिकार हैं, वे मुझसे यह अधिकार छीन सकते हैं। आज पूरी तमिल जनता अपनी भाषा को लेकर सवाल (supplementary) पूछना चाहती है।’  वहीं तमिल भाषा का मुद्दा उछालते हुए उन्‍होंने कहा, ‘तमिलनाडु के लोगों और उनकी भाषा को लेकर है। उन्‍हें अपनी भाषा को बचाने का पूरा अधिकार है। यह अस्‍वीकार्य है। आप तमिल की जनता से उनका हक नहीं छीन सकते कि वे सदन में अपनी भाषा को लेकर सवाल नहीं पूछ सकते।’

दरअसल सोमवार को लोकसभा में राहुल गांधी ने बैड लोन का मुद्दा उठाते हुए मोदी सरकार से 50 डिफॉल्‍टर्स के नाम पूछे थे और कहा था कि बैंक के पैसे लेकर देश से फरार डिफॉल्‍टर्स  (Defaulters) को अब तक वापस क्‍यों नहीं लाया जा सका है। इसपर भाजपा के अनुराग ठाकुर ने जवाब दिया था कि यूपीए सरकार में ज्‍यादा बैंकों से पैसे हड़पे गए लेकिन हमारी सरकार इकोनॉमी ऑफेंडर्स बिल लेकर आई है।

support media swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 3 =

Related Articles

Back to top button